Your Brain At Work Book Summary in Hindi

Dimaag Ka Kamaal : – Your Brain At Work Book Summary in Hindi

क्या आपको कभी ऐसा महसूस हुआ है कि फोकस करने में दिक्कत आ रही है ?” उत्तर “हां ” है तो  Your Brain At Work Book Summary in Hindi ” की सहायता से आपको अपना फोकस और प्रोडक्टिविटी बढ़ाने में मदद मिलेगी ।

 Your Brain At Work Book Summary in Hindi

इंसान के सामने रोज कोई नए परेशानियां आता है जिसके कारण वह कई बार अपने आप को असहाय और असफल समझने लग जाता है । क्या आप भी ऐसी परिस्थिति का सामना कर रहे हैं ?

हमारे दिमाग में इतनी शक्तियां होती है जिसका अगर हम इस्तेमाल करना सीख जाए तो कभी भी हम अपने जीवन में उदास नहीं होंगे और खुशी से अपना जीवन बिताएंगे।

एक लड़का होता था जो जीवन में हमेशा उदास और असफल महसूस करता था लेकिन एक बार उसने किताब खरीदी इस किताब का नाम था “योर ब्रेन इन वर्क “दोस्तों आप यकीन नहीं मानेंगे इस किताब को पढ़ने और अपने जीवन में पढ़ी हुई बातों को लागू करने से उसे लड़के का जीवन पूरी तरह से बदल गया ।

जीवन में खुशहाली और दिमाग में शांति किसे नहीं पसंद होती !कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है जब इंसान को समझ नहीं आता है कि कौन से रास्ता उसके लिए बेहतर हो सकता है ?

आपको यकीन नहीं होगा कि दुनिया में 90% लोग ऐसे हैं जिन्हें समझ ही नहीं आता कि कौन से रास्ता उनके लिए बेहतर हो सकता है ?

हमारे मस्तिष्क की एक सीमित क्षमता होती है जिसका सही उपयोग करके ही आप इसका पूरा फायदा उठा सकते हैं ।

इस लेख के जरिए आप समझेंगे कि दिमाग की शक्तियों का सही तरीके से कैसे उपयोग किया जाता है और सकारात्मक विचार कैसे आपकी जिंदगी में बड़ा बदलाव ला सकते हैं ?

चलिए दोस्तों ! ज्यादा वक्त ना लेते हुए अब समझते हैं कि “योर ब्रेन इन वर्क “इस किताब में ऐसा क्या लिखा है जो आपकी जिंदगी बदल सकता है ।

इस शानदार बुक समरी को समझने से पहले अगर आप हमारे चैनल में नए हैं तो चैनल को सब्सक्राइब करें और लाइक करें ।

🤩दोस्तों मान लेते हैं कि आप एक अच्छी खासी पोजीशन में है । इस पोजीशन में आपकी Junior Employees आपको रिस्पेक्ट देते हैं । आपका जीवन अच्छा चल रहा है लेकिन एक कार्य आपके सामने आया है जो आपकी पोजीशन को हाई लेवल तक लेकर जा सकते हैं लेकिन इसमें रिस्क यह है कि अगर आप हाई लेवल के स्टेज को पार नहीं कर पाएं तो आप इस पोस्ट से भी हाथ धो बैठेंगे ,तो क्या आप यह रिस्क लेने के लिए तैयार हैं ?

90% लोग बोलेंगे कि हमें इस तरह का कोई कार्य नहीं करना है जिससे हमारे वर्तमान स्थिति को नुकसान पहुंचे ।

आपको कई छोटे आर्टिस्ट ऐसे दिख जाएंगे जो अपनी कला को इसलिए लोगों के सामने नहीं लेकर आते हैं कि उनके अंदर यह डर रहता है कि कहीं उनकी कला की कोई नकल करके उनकी पहचान ना छीन ले ।

पहचान ना छीन ले इस डर के कारण उनकी कही ऊंची जगह पहचान नहीं बन पाती ।

🌹🌹बुद्ध धर्म की माने तो अमीर , गरीब ,उदास ,खुशी यह सब शब्द सिर्फ एक भ्रम है ।आप खुश होना चाहते हैं तो आपको वह कार्य करना होगा जिससे आपको खुशी मिलती है लेकिन आप अपना नाम बनाना चाहते हैं या अपने पोजीशन के बारे में ज्यादा ख्याल कर रहे हैं तो यकीन मानिए आप वह कार्य नहीं कर पाएंगे जिससे आपको खुशी मिलती है ।

* **Dimaag ki Limits Samjhiye (Understanding Your Brain’s Limits): (Your Brain At Work Book Summary )

इंसान जब हर कार्य को महत्व देने लग जाता है तो वह कोई भी कार्य में कुशलता हासिल नहीं कर पाता इसलिए जो कार्य आपके लिए महत्वपूर्ण है उसे सबसे पहले करें ताकि  आप अपना 100% कंसंट्रेशन दे पाएं ।Prefrontal Cortex से हमें निर्णय लेने और प्राथमिकता सेट करने में मदद करती है , इसे इस्तेमाल करे ।

for example :जैसे Muscle दिनभर कार्य करने से थक जाते हैं वैसे ही prefrontal cortex दिन भर कार्य करने से थक जाता है इसलिए इंसान को महत्वपूर्ण कार्य सबसे पहले कर लेने चाहिए ।

Prioritize Like a Pro :- To do लिस्ट सेट करें क्योंकि ऐसा करके ही आप अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं ।

 Multitasking ka Wahm

इंसान को ऐसा लगता है कि वह हर कार्य बहुत ही बेहतरीन ढंग से कर सकता हैं इसलिए वह Multitasking करना शुरू कर देता है ।जिसकी वजह से उसका कोई भी कार्य ढंग से नहीं कर पाता ।

दिमाग एक स्टेज है जहां इनफॉरमेशन प्रक्रिया होती है लेकिन इसमें लिमिटेड एक्टर्स आ सकते हैं इसलिए मल्टी टास्किंग नहीं करना चाहिए ।

focus ko kaise badhaye: (एकाग्रता बढ़ाने का मंत्र )

यह प्रैक्टिकल Strategies को फॉलो करके आप फोकस कर सकते हैं ।

  •  जब भी आप कोई महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हो तब मोबाइल फोन को silent mode में रखें ।
  • एक बार में एक ही browser ओपन करें ताकि डिस्ट्रक्शन को अवॉइड किया जा सके ।
  •  Pomodoro Technique को अपनाएं इसमें आपको टाइम सेट करना होता है कि आप 25 मिनट अपना कार्य करेंगे और फिर आप 5 मिनट का ब्रेक लेंगे ऐसा करने से भी आपका फॉक्स लेवल बढ़ता है ।
  • एक समय एक ही कार्य करें ताकि आपका ध्यान भटके नहीं और आप अपना कार्य सही ढंग से कर पाएं ।
  • Distraction से बचें -दोस्तों आपको पता भी नहीं चलता कि डिस्ट्रक्शन आप पर हावी हो रहा है जिसकी वजह से आपकी एनर्जी और समय बर्बाद होता है ।
  • कई बार डिस्ट्रक्शन बाहरी एनवायरनमेंट के कारण होता है जैसे कि फोन  ,मैसेज या आपकी आजू-बाजू वाले लोग जो आपके काम स्थल पर पहुंचकर आपको दुविधा में डालते हैं ।

एक स्टडी के दौरान यह पता लगा है कि एक average employee का ध्यान मंत्र 11 मिनट अपने काम में लगता है उसके बाद वह भटक जाता है जिसकी वजह से उसे अपने कार्य में फिर से फोकस लाने के लिए कार्य करना पड़ता है जिसमें उसकी एनर्जी और समय बेहद बर्बाद होता है ।

जब तक इंसान को समझ आता है कि उसका समय काफी हद तक बर्बाद हो गया है तब तक काफी देर हो गई होती है जिसके कारण ब्रेन अपना कार्य करना कम कर देता है ।

ब्रेन की कीमती एनर्जी को इस्तेमाल करना इंसान को समझ आ जाए तो वह अपने महत्वपूर्ण कार्य को पहले समाप्त करेगा जिसकी वजह से उसकी प्रतिष्ठा में चांद चांद लगेंगे ।

दोस्तों सिर्फ बाहरी चीज ही आपका ध्यान नहीं भटकती बल्कि आपकी खुद की अंदर की आवाज भी आपका ध्यान भटकती है ।कई बार पुरानी यादें ,फ्यूचर की चिंता या वर्तमान में किए गए फैसले आपको वर्तमान क्षण में रहने नहीं देती ।

बाहरी डिस्ट्रक्शन को हटाने के लिए आपको अपने मेंटल प्रक्रिया पर ध्यान देना होगा । देखिए अगर आपको एहसास हो गया है कि बाहरी कोई वस्तु आपको डिस्ट्रक्ट कर सकती है तो जल्द से जल्द उस चीज से दूर हो जाएं ताकि आप अपने कार्य में ज्यादा ध्यान दे पाएं ।

अगर आप सोचते हैं कि डिस्ट्रक्शन खुद व खुद कंट्रोल हो जाएगा तो ऐसा सोचना बहुत बड़ी आपकी गलतफहमी है ।जब तक आपको realize होगा कि आप डिस्ट्रक्शन की वजह से अपने कार्य पर ध्यान नहीं दे पाए तब तक बहुत देर हो चुकी होगी इसलिए खुद से कंट्रोल करना सीखें ।

 Your Brain At Work Book Summary in Hindi

अपने इनर थॉट्स को पकड़े और समझे कि कौन सी बातें आपको ज्यादा तंग कर रही है ।समझे कि कौन सी बातों पर विचार करना आपका वर्तमान और फ्यूचर के लिए सही हो सकता है । अगर आप उन बातों को लेकर बैठेंगे जिनका कोई आपसे लेना देना नहीं हो सकता तो आप अपना समय और एनर्जी दोनों ही बर्बाद करेंगे ।

Dimaag aur Tension:दिमाग और टेंशन आपस में कैसे जुड़ी है ?

Emotions और instincts को Limbic System कंट्रोल करता है ।जब व्यक्ति स्ट्रेस में होता है तो Limbic System एक हार्मोन रिलीज करता है जिसका नाम है “cortisol “यह हार्मोन दिमाग के उस Part को कमजोर कर देता है जो फॉक्स और डिसीजन मेकिंग में मदद करता है ।

Best Book for Adults 

Aapke Avchetan Mann Ki Shakti (The Power Of Your Subconscious Mind In Hindi)

Tension ko Harao (Beat the Stress):

stress के नुकसान तो हम समझ गए अब हम बात करते हैं कि स्ट्रेस को कैसे हराया जाएं ?तकनीक  को अपनाकर आप स्ट्रेंस को दूर भगा सकते हैं और अपने फोकस को इंप्रूव कर सकते हैं ।

स्ट्रेस और एंग्जायटी से बचाव के लिए जरूरी टिप्स (दिमाग को टेंशन फ्री कैसे रखें? )

Breathing Exercises karein (Practice Deep Breathing Exercises) -गहरी सांस लेकर छोड़ना से आपके stress level को काफी हद तक कंट्रोल कर सकती है ।ज्यादा स्ट्रेस होने के कारण भी इंसान अपना कार्य सही ढंग से नहीं कर पाता इसके कारण ही उसकी परफॉर्मेंस खराब हो जाती है ।

deep breathing का इस्तेमाल करके आप स्ट्रेंस को कम कर सकते हैं और अपना फोकस को बढ़ा सकते हैं ।

वातावरण का सहारा ले – जब स्ट्रेस इतना बढ़ जाए कि आप कार्य ही नहीं कर पा रहे हैं उस दौरान अपने दिमाग को कोई दूसरे एक्टिविटी में लगा देना चाहिए जैसे कि बाहर थोड़ा टहलने निकल जाना ।प्राकृतिक सुंदरता देखने से भी आपका स्ट्रेस लेवल कम होगा ।

भले ही कुछ समय के लिए आप बाहर जाएं लेकिन स्ट्रेस लेवल कम करने के लिए जरूर बाहर निकले ।यह कार्य आपके मस्तिष्क को शांत करेगा और फोकस करने में आपकी मदद करेगा ।

पर्याप्त मात्रा में नींद ले – पर्याप्त मात्रा में नींद लेने से फॉक्स लेवल और हेल्थ दोनों ही बेहतर रहते हैं इसलिए हर इंसान को कम से कम 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए ।

Tension ka Dher (Stress Overload) स्ट्रेस का हमारे जीवन में क्या प्रभाव पड़ता है यह तो हम समझ गए चलिए अब जानते हैं कि इसे कंट्रोल कैसे करें ?

Conclusion

“Your Brain at Work.” सें महत्वपूर्ण बिंदुओं को संक्षेप बताती हूं ताकि आप इस किताब की सभी महत्वपूर्ण बातों को याद रख सके ।

  • अपने मस्तिष्क की सीमाओं को समझना चाहिए ।
  • एक समय एक कार्य करना है ना कि मल्टीटास्किंग में उलझन है ।
  • तनाव को कम करना है ताकि कार्य पर आप अपना ध्यान लगा सके ।
  • एक सहायक वातावरण बनाना है ताकि प्रोडक्टिविटी और फॉक्स लगाकर आप अपने कार्य को बेहतर कर पाएं ।💥

Read more 👇👇👇

आकर्षण के नियम क्या है ? :-The Secret to Love Health and Money book summary in Hindi

Faith Ka Raaz Khul Gaya : The Power of Faith Book Summary in Hindi

उम्मीद है आपको यह लेख की जानकारी पंसद आइ होगी । सिर्फ पढ़ने मात्र से आपको फायदा नही मिलगा इसलिए बताई गई बातो को Implement किया करो तभी आप अपना कल बहेतर बना पाओगे ।

Author

  • dailygyankasagar

    मेरा नाम दीपा है ।मैं उड़ीसा से हूं ।मुझे किताबें पढ़ना और लोगों की मदद करना बहुत पसंद है। मेरी  रुचि हमेशा नया सीखने में और सिंगिंग में रही है। कहते हैं अगर अपने passion को profession बना लो तो जिंदगी जीने  में आनंद आने लग जाता है। यह बात मैंने किताबों से और महान व्यक्तियों से सीखी है।

    View all posts

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram