communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ?

communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ?

communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill   ?

हेलो दोस्तों आप सब का स्वागत है आज आप जानेंगे कि communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill   ?

कई बार ऐसा लगता है कि हमें अपना communication skill बढ़ाना चाहिए जिसे हम हर जगह अपना एक अलग महत्व बना पाए ।

हम में से कई लोग ऐसे हैं जो कि communication skill को बढ़ाना चाहते हैं पर समझ नहीं आता शुरुआत कैसे करें ?

आज मैं आपको ऐसे टिप्स और ट्रिक्स दूंगी जिसे जाने के बाद आप अपने आप में काफी बदलाव महसूस करेंगे।

communication skill क्या है ?

हर इंसान अपनी बात को अच्छे से पेश करना चाहता है ।कई बार उसे समझ में नहीं आता कि किस शब्द का उपयोग उसे अपने वार्तालाप में करना चाहिए ।

कुछ बातों का ध्यान रखिए इसे हर व्यक्ति अपने मन की बात दूसरे व्यक्ति को समझा सकता है । जिस इंसान को मालूम है कि अपनी बात सामने वाले व्यक्ति को कैसे बताने हैं ।उसे अच्छा वक्ता माना जाता है ।

communication मतलब बातचीत अगर आप किसी भी व्यक्ति के सामने अपनी बात को अच्छे से बता सकते हैं तो इसका मतलब है कि आपको बातचीत करने का तरीका मालूम है।

लेकिन जिस व्यक्ति को अच्छे से बातचीत करने नहीं आती है उसे अपने communication skill में काम करने की आवश्यकता है ।

अच्छे वक्ता को हर कोई सुनना चाहता है ।अगर भीड़ में एक व्यक्ति जो अपनी बात को स्पष्ट रूप से हर इंसान को समझाने योग्य है ।उसे अच्छा वक्ता कहते हैं इसका यह मतलब है कि उसका कम्युनिकेशन स्किल लाजवाब है ।

Communication skill क्यों improve करना चाहिए ? (communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ? )

आपको छोटी सी कहानी बताती हूं मेरी कक्षा में एक युवक था जिसे हर कोई पसंद करता था ऐसा क्यों था?

क्योंकि उसे बातचीत करने का तरीका आता था उसे मालूम था कब ,कहां, कैसे और कितनी बात करनी ठीक रहेगी।

कई बार मुझे एक जलन सी होती थी कि हर कोई उसे इतना महत्व क्यों देता है ?

मैं बहाना बना लेती थीं कि कोई बड़ी बात नहीं है मैं चाहूं तो किसी का दिल जीत सकती हूं पर मेरा ऐसा सोचना गलती थी।

क्योंकि मैं अपने दोस्तों के अलावा किसी से भी बात करने में झिझक महसूस करती थी।

धीरे धीरे मुझे समझ आया कि अगर मैं हमेशा झिझकती रहूंगी तो कोई फील्ड में या presentation के दौरान मेरी झिझक हमेशा रहेगी और मैं एक अच्छे वक्ता नहीं बन पाओगी।

मैंने उससे और कई किताबो में जिसमें बताया गया है कि एक अच्छा वक्ता कैसे बना जाता है।

वह सब नोटिस किया और कई ऐसे important point अपने जीवन में लागू कर दिए। जिससे मुझे समझ आएगी एक अच्छा वक्ता बनने के लिए क्या करना चाहिए?

communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill   ?

communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill   ?

बिना आपका ज्यादा वक्त लिए अब बात करते हैं कि ऐसे कौन से टिप्स एंड ट्रिक्स है जिसे जानने के बाद एक अच्छा वक्ता बन सकते हैं।

काश यह हमें education system में समझाया जाता कि एक अच्छा वक्ता कैसे बना जाता है ?

हम सब marks अच्छे कैसे लाएं इसमें ध्यान देते हैं पर असल जिंदगी में अगर अच्छे मुकाम को हासिल करना है और एक बेहतर  जिंदगी जीना है तो हमें अपने skill को Develop करना ही चाहिए।

 

जानते हैं कि वह टिप्स एंड ट्रिक्स क्या है ? जिससे हम अनगिनत फायदे अपने वर्तमान और भविष्य में उठा सकते हैं ।

11 तरीकों से comminucation skill को विकसित करे (communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ? )

  • .The floody smile (द फ्लड इस्माइल)

अक्सर आपने नोटिस किया होगा कि कई ऐसे लोग होते हैं जो कभी स्माइल ही नहीं देते उनमें से एक था विलियम जो कि एक Stock broker था ।

वहां अपने जीवन से बहुत नाराज था। उसने अपने हताशा को दूर करने के लिए एक क्लब ज्वाइन किया।

उसे टास्क दिया गया कि उसे हर 1 घंटे में किसी व्यक्ति को स्माइल देना है। उसने अपने task को अच्छे से निभाया ।वहां हर एक व्यक्ति को चाहे वहां न्यूज़पेपर वाला हो ,एलिवेटर व्यक्ति हो या अपने घर के सदस्य उसने इस task को निभाना शुरू कर दिया।

जब उस व्यक्ति ने पहली बार अपनी wife को स्माइल दी उनकी वाइफ हैरान हो गई और आश्चर्यजनक उन्हें देखने लगी।

विलियम की वाइफ को धक्का लगना लाजमी था क्योंकि उनकी शादी को 18 साल हो गए थे पर आज तक उनके पति ने उन्हें स्माइल नहीं थी।

जब विलियम की वाइफ आश्चर्यजनक देखने लगती है तब विलियम कहते हैं कि चौको मत .. आज से मैं हर रोज तुम्हें स्माइल दूंगा और हर एक व्यक्ति को स्माइल दूंगा ।

यह सुनकर उनकी पत्नी बहुत खुश हुई और ऐसे बहुत से लोग जो उन्हें खडूस समझते थे वहां भी उनके साथ जुड़ने लगे और धीरे-धीरे उन्हें पता चला कि लोग उन्हें खडूस कहते थे।

फिर एक दिन उन्हें कहा गया कि तुम कैसा महसूस कर रहे हो इस टास्क को करने के बाद तब विलियम ने कहा मैं नहीं जानता था कि कौन सी खुशी मेरी जिंदगी में नहीं थी पर task करने के बाद मुझे अंदाजा हुआ कि  Smile करने का क्या महत्व है।

आज मैं जिन लोगों को भी Smile देता हूं ।वहां Smile के बदले मुझे स्माइल देते हैं और मुझे बहुत खुशी महसूस होती है।

देखा दोस्तों आपने विलियम की लाइफ में कितना बदलाव आया । एक स्माइल से हम काफी लोगों के दिलों में राज कर सकते हैं । उनसे रिश्ता जोड़ सकते हैं और बड़े से बड़े दिक्कत को दूर भगा सकते हैं।

The floody smile का मतलब यह नहीं है कि आप बेवजह ही मुस्कुराते रहें। आपको Smile देते समय एक दो सेकंड के लिए सामने वाले व्यक्ति के face को देखना है फिर धीरे से Smile देनी है।

ऐसा करने से ही सामने वाले व्यक्ति को भी लगेगा कि आपकी स्माइल Genuine है।

Smile देने से सामने वाले व्यक्ति भी  निश्चिंत होकर अपनी बात आपको बता सकता है और आपका कार्य बिना कोई झिझक से ही पूरा हो सकता है।

  • Always Come out positive –

कुछ लोग जैसे ही किसी व्यक्ति से मिलते हैं emotional bond create करने की कोशिश करते हैं वह ऐसी नकारात्मक बातें करेंगे जिससे सामने वाले व्यक्ति उनसे जुड़ जाए।

ऐसा कुछ भी नहीं होता है हमें हमेशा सकारात्मक बातें करनी चाहिए पहले हमें कुछ समय उनकी लक्ष्य ,सपने और जनून के बारे में बातें करनी चाहिए।

न की argument या negative thought की बातें करनी चाहिए। अगर आप पहले ही मुलाकात में नकारात्मक बातें करेंगे तो हो सकता है दूसरी बार आपसे कोई बात ही ना करना चाहे

क्योंकि हर इंसान सकारात्मक व्यक्ति को ही पसंद करता है। कुछ समय बाद अगर आपका रिश्ता मजबूत हो जाए तब आप अपने पर्सनल बातें कर सकते हैं।

  • Modern day renaissance

कई बार देखा गया है कि अगर हमारी रुचि से हटकर कोई बात हो रही होती है तो हम उस में दिलचस्पी नहीं लेते हैं ।अगर आप एक अच्छा वक्ता बनना चाहते हैं तो हर फील्ड की कुछ जानकारी आपको होनी ही चाहिए क्योंकि जब भी कोई व्यक्ति आपसे दूसरे फील्ड की बात करेगा तो आपको समझ आएगी।

इसलिए अन्य कार्यों की भी जानकारी आपको होनी चाहिए जिससे आप एक अच्छा वक्ता बन पाएंगे।

  • Sticky eyes

अब इसमें आपको यह समझना है कि आपको उस शख्स को देखना है जिससे आप बात कर रहे हैं ।अक्सर ऐसा होता है कि कुछ लोग बात करते समय सामने वाले व्यक्ति की आंखों में ना देते हुए इधर उधर देखते हैं । यहां सामने वाले व्यक्ति को बिल्कुल पसंद नहीं आता और वह महसूस करता है कि आप उनकी बातों पर दिलचस्पी नहीं ले रही हैं ।

इसलिए अच्छा वक्ता बनने के लिए आपको सामने वाले व्यक्ति की आंखों में देखने की जरूरत है ।

लेखक यह नहीं कह रहे हैं कि आपको सामने वाले व्यक्ति को घूरना है आपको बातचीत के दौरान एक eye contact बनाना है ।

जिससे सामने वाले व्यक्ति को ऐसा महसूस हो कि आप उनकी बातों में दिलचस्पी ले रहे हैं ।

  • Mood mismatch

कुछ लोगों को बातें करने की इतनी जल्दी होती है कि वह देखते ही नहीं है कि सामने वाला व्यक्ति किस मूड में है ।

अगर आप हताश और परेशान हैं और उसे समय आपका कोई ऐसा दोस्त जिससे आप ज्यादा बात नहीं करते हो वहां आपको बहुत सी बातें excitement में बताने लग जाए तो आप कैसे महसूस करेंगे ?

जाहिर सी बात है आप मौके की तलाश करेंगे कि कब आप उस स्थान से भाग ले ।

अच्छा वक्ता बनने के लिए आपको देखना चाहिए कि सामने वाले व्यक्ति उस स्थिति में है कि नहीं जो आपकी बातें सुन सके ।

अगर बात करना बहुत ही जरूरी है तो आप gradually अपनी बात सामने रखें । ऐसे करने से आप सामने वाले व्यक्ति का भी मूड बदल सकते हैं ।

  • Naked job, City and introduction

-ज्यादातर लोग जब एक नए व्यक्ति मिलते हैं तो वहां 2 या 4 question बहुत ही आसानी से पूछ लेते हैं जैसे कि –

आपका नाम क्या है ?

आप कहां रहते हो ?

आप का प्रोफेशन क्या है ?

वह आपके प्रश्नों का जवाब देता है और ऐसे ही same questions आपसे वे पूछता है उसके बाद आप दोनों ही शांत हो जाते हैं ।

अच्छा वक्ता वह होता है जो एक लाइन में उत्तर न दे । अगर आप अच्छा वक्ता बनना चाहते हैं तो हमेशा अपनी बातों में कुछ ऐसे जानकारी भी दे। जिससे सामने वाला व्यक्ति Impress हो जाए ।

जब आप अपने प्रोफेशन के प्रति कुछ extra Information देंगे तब सामने वाले व्यक्ति भी अपने बारे में कुछ ज्यादा बताने के लिए विवश हो जाएगा ।

ऐसा करने से आप दोनों ही एक दूसरे को बेहतर अच्छे से समझ पाएंगे ।

जितना हो सके एक लाइन में answer देने की बजाय आप कुछ ऐसे Facts बताए जो कि आपकी Place के बारे में हो या ऐसी कुछ बातें जो आपके Profession का महत्व बताती हो ।

आपको अपनी बातों में इन्हें शामिल करना है ।

  • Avoid fidget –

इसका मतलब है कि आप को बातचीत के दौरान अपने eyebrow, forehead को हाथ नहीं लगाना । उदाहरण के माध्यम से आपको समझाते हूँ ।

एक बार दो व्यक्तियों के बीच में विवाद हो रहा था विवाद के बाद जिस व्यक्ति को जिताया गया वहां अपनी body language को अच्छे से इस्तेमाल करना जानता था और दूसरा व्यक्ति नहीं जानता था इसलिए जब भी आप किससे बात करते हो आपको अपने body language का ध्यान रखना चाहिए ।

जो व्यक्ति बात करते समय अपने चेहरे पर हाथ फिरता है उससे लोग समझते हैं कि वह झूठ बोल रहा है ।इसलिए जितना हो सके बातचीत करते हैं समय आप अपनी body language का ध्यान रखें ।

  • Parroting

हम सब तोते को पसंद कहते हैं पर क्यों ? इसलिए क्योंकि जो भी हम बोलते हैं वह दोहराता है ।

इस टेक्निक को हम भी use कर सकते हैं ।आपके मन में सवाल आ रहा होगा कैसे ?

ज्यादा कुछ नहीं दोस्तों आपको सामने वाले व्यक्ति की बातों में से कुछ शब्द पकड़ने हैं और उन्हें दोहराना है ।

मान लीजिए कि आप एक ऐसे दोस्त से मिल रहे हैं जिससे आप ज्यादा बात नहीं की पर आपको इस टेक्निक को apply करना है और जानना है कि यहां टेक्निक कितनी अच्छी है ।

एक बार एक दोस्त दूसरे दोस्त से कम बात करता था पर उसने यह टेक्निक अप्लाई करने के लिए उससे बात करनी शुरू कर दी ।

जब व्यक्ति ने कहा कि वह शो देख कर आ रहा है उसके दोस्त ने Parroting Technique का इस्तेमाल किया और कहां show?

show सुनते ही पहले व्यक्ति ने कहा ..हां तुम्हें मालूम है कि उस शो में बहुत बड़े Singers भी आए थे ।

फिर पहला व्यक्ति कहता है singers ..सुनते ही दूसरे शख्स ने कहा हां singers और उन्होंने यह गाना गाया वह गाना गाया ..blah blah blah

ऐसे ही उनकी वार्तालाप काफी समय चली आप यकीन नहीं मानेगी जो दोस्त खास भी नहीं था वहां जाते समय बोल कर गया कि तुमसे बात करके मुझे बहुत अच्छा लगा ।

यह होती है parroting technique की शक्ति ।

  • Be a word detective

कई बार उम्र में ज्यादा अंतर होने के कारण हम समझ नहीं पाते कि किस तरह की बात हमें करनी चाहिए।

आपको सामने वाले व्यक्ति की  बातचीत को ध्यान से सुनना चाहिए । किस तरह का शब्द का इस्तेमाल करते हैं ऐसा करने से आप समझ जाएंगे कि कौन सी चीज उन्हें पसंद है और कौन सी उन्हें नापसंद है।

एक औरत है जो कि old age orphanage में कार्य करती थी उन्हें समझ नहीं आता था कि अपने से उम्र वाले व्यक्ति से क्या बात करनी चाहिए ?

एक बार नैंसी old age orphanage में काम करती थी । उसने एक औरत के सामने कहा कि आज तो बारिश रुकने का नाम ही नहीं ले रही ..बारिश ने तो तंग करके रखा है.. उस औरत ने बड़े गुस्से से कहा बारिश पौधों के लिए अच्छी होती है।

यह सुनकर नैंसी ने ऑथर से बात कि मेरे बातचीत से वह औरत और गुस्से में आ गई तो author मुस्कुराएं और कहा कि जवाब में तुमने क्या कहा?

नैंसी कहती है कि उन्होंने मेरी बात को काट दिया तो मैं आगे मैं क्या बोलती?

author मुस्कुराए और कहा कि आप अगले दिन जाओ और उनसे पौधों के बारे में बातचीत करो .. पहले तो नैंसी ने ना कहा पर फिर नैंसी मान गई।

जब नैंसी ने उस वृद्ध औरत से बात की तो नैंसी को पता चला कि वह पौधों को पसंद करती है इतना ही नहीं उसने गार्डनर से शादी की थी।

जब यहां सब बातें वह ऑथर को बताती है तो Nancy पूछती है कि आपको कैसे पता चला कि उसे पौधे पसंद है।

author ने कहा कि किसी से वार्तालाप करने के लिए उसके word detect करने चाहिए । इसी से हम अपनी वार्तालाप को काफी समय तक अच्छा रख सकते हैं।

  • Come -you -nication

कहा जाता है कि अच्छा वक्ता वही होता है जो अपनी बातों में दूसरों को शामिल करें।

उदाहरण के माध्यम से समझाती हूं अगर कोई व्यक्ति आपके सामने कहे मेरे घर के सामने ही एक चाइनीस रेस्टोरेंट खुला है । मुझे बहुत पसंद है क्या आप मेरे साथ जाना पसंद करेंगे?

प्रश्न सुनने के बाद दूसरा व्यक्ति सोच में डूब जाता है कि क्या वहां का खाना मुझे पसंद आएगा?

लेखक के अनुसार अच्छा वक्ता वही है जो अपनी बातों में दूसरों को शामिल करें । अगर प्रश्न इस तरह से होता कि मेरे घर के सामने चाइनीस रेस्टोरेंट खुला है आपको पसंद आएगा ..क्या आप जाना चाहेंगे?

इस सिचुएशन में सामने वाले व्यक्ति का उत्तर 99% “हाँ” ही होता क्योंकि वार्तालाप में ही आपने कह दिया कि आपको पसंद आएगा।

लेखक कहते हैं कि दूसरों को Importance दो ….ना कि हमेशा मै, मेरा, मुझे इन शब्दों का अपने वार्तालाप  में ज्यादा प्रयोग करें।

  • Avoid Bloopers

कुछ लोगों को ना टिप्पणी देने की आदत होती है कुछ भी हो जाएगा तो उनके मुंह से निकलेगा अरे रे रे , संभल कर और कुछ लोग तो हंसना ही शुरु कर देते हैं ।

लेखक कहते हैं कि एक रेस्टोरेंट में वेटर के हाथों से खाना गिर जाता है तो लोग उसे टिप्पणी देना शुरू कर देते हैं।

वही CFO ‘s बैठे होते हैं पर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा । लेखक कहते हैं वही लोग अच्छे वक्ता माने जाते हैं जो छोटी-छोटी गलतियों को नजरअंदाज करें।

उस waiter को भी मालूम है कि उससे गलती हुई है पर अगर आप pinpoint करेंगे तो उसके मन में यह भावना आएगी कि यह व्यक्ति काम करने योग्य नहीं है।

इसलिए आगे से अगर किसी की face में आप पिंपल देखें तो उसे pinpoint ना करें क्योंकि सामने वाले व्यक्ति को मालूम है कि उसके face मे Pimple हुए हैं ।

जब आप किसी की छोटी-छोटी गलतियां को अनदेखा करते हैं तो उसकी नजर में आप एक अच्छे व्यक्ति और अच्छे वक्ता बन जाते हैं।

निष्कर्ष

इन सब बातों का ध्यान रखकर आप एक अच्छा वक्ता बन सकते हैं ।communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ?अगर आप को दी गई जानकारी पसंद आए तो आप अपना प्यार लाइक ,सब्सक्राइब और शेयर करके दिखा सकते हैं …धन्यवाद 🙏🏼😊

Also read👇👇

Conditional sentences and it’s  types

ओवरथिंकिं ओवर थिकिग (ज्यादा सोचने) से कैसे बचे

Related Posts

2 thoughts on “communication skill को कैसे बढ़ाएं । How to develop communication skill ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram