shadowing technique to learn english

Shadowing Technique Explained :Shadowing Technique to learn English

आपने कई बार Shadowing Technique का नाम सुना होगा , इस लेख  “Shadowing Technique to learn English “में आप समझेंगे की shadowing technique का उपयोग आप कैसे कर सकते हैं ?

कई बार ऐसा होता है कि आपको ग्रामर आती है और आप इंग्लिश समझ भी जाते हैं लेकिन बोलते समय तकलीफ महसूस होती है ।

अगर आपकी यहां समस्या है की ग्रामर समझने के बावजूद भी आपको अंग्रेजी बोलने में तकलीफ आ रही है तो आज यह लेख “shadowing technique to learn english ” सिर्फ आपके लिए है ।

 

shadowing technique to learn english

तकनीक समझने के बाद मेरा दावा है कि आप इस मेथड से अंग्रेजी बोल पाएंगे और बोलने के समय हिचकिचाहट महसूस नहीं करेंगे ।

शैडोइंग तकनीक अपने नाम सुना होगा ,shadowing technique यह एक ऐसी रहस्यमय तकनीक है जिसके जरिए आप अपनी listening and speaking skills डेवलप कर सकते हैं ।

कोई भी चीज सीखना तब असंभव होता है जब इंसान अपनी हार स्वीकार कर लेता है । जिस इंसान को उत्सुकता है कुछ सीखने की , वह अपने दिनचर्या में समय निकलता है ताकि वह अपने स्किल को डेवलप कर सके और जीवन में आगे बढ़ पाए ।

What is Shadowing technique?

Shadowing technique एक लैंग्वेज लर्निंग टेक्निक है जिसके जरिए आप कोई भी भाषा आसानी से सीख सकते हैं । इस तकनीक में आपको ऑडियो को सुनते ही repeat करना है ,जितने अच्छे से आप उसे ऑडियो की mimic कर पाएंगे उतना अच्छा आप बोल पाएंगे ।

इस तकनीक को ही shadowing or mirroring technique कहा जाता है ।

जब आप ऑडियो सुन रहे होंगे उसे समय आप प्लेबैक की सहायता ले सकते हैं ।

playback फीचर बहुत अच्छा है क्योंकि इसके सहायता से आप ऑडियो की स्पीड कम कर पाएंगे और स्पीकर को सही ढंग से सुन पाएंगे ।

Benefits of Shadowing Technique in Hindi 

  • शैडोइंग तकनीक का इस्तेमाल करके आप अपने स्किल को enhance कर सकते हैं ।
  • यह कार्य आपको रोजाना 15 मिनट के लिए करना होगा ताकि आपका accent बिल्कुल नेटिव स्पीकर्स की तरह हो जाएं ।
  • speaking skills में अपनी पकड़ बनाने के लिए ,आपको ऐसा कोई चैनल या मूवी को चुनना होगा जिसमें आपका दिलचस्प हो ।

Shadowing Technique को महत्व क्यों दिया जाता है ?

दोस्तों shadowing technique का इस्तेमाल करके आप कोई भी भाषा आसानी से सीख सकते हैं क्योंकि इस तकनीक में आपको किसी अन्य व्यक्ति की मदद लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए इस तकनीक का इस्तेमाल कर सकते हैं और अपने स्किल को डेवलप कर सकते हैं ।

आपने अभी तक समझा की shadowing technique हम सब के लिए महत्वपूर्ण क्यों है तो अब मैं आपको प्रक्रिया बताती हूं जिसके जरिए आपको कोई भी भाषा आसानी से सीखने में मदद मिलेगीं ।

वैसे तो कई प्रकार के प्लेटफॉर्म्स है जिसका फायदा आप उठा सकते हैं जैसे की -audiobooks, Netflix, YouTube videos, or even radio shows , podcast .

Shadowing technique सबसे इफेक्टिव मानी जाती है जब उसे सिखने वाला ऑडियो को समझ कर उसे दोहराएं ।

content के Vocabulary को समझने के लिए आप गूगल के पास जाएं फिर उसे समझ और फिर Shadowing technique इस्तेमाल करें ।

आपके पास समय है तो यह आप कर सकते हैं ,लेकिन यदि आपका उद्देश्य native Speaker जैसा बोलना है तो सिर्फ आप उनके उच्चारण कैसे करते हैं उस पर ध्यान ज्यादा दें ताकि आप उनके जैसा बोल पाएं ।

beginner or lower-intermediate English learner के लिए शैडोइंग तकनीक काफी फायदेमंद रहेगी क्योंकि जब transcript को देखकर शैडोइंग तकनीक इस्तेमाल करेंगे तब आपका कॉन्फिडेंट लेवल भी enhance होगा और आप नेटिव स्पीकर्स की तरह sound करेंगे ।

शुरुआत में transcript का सहारा ले सकते हैं फिर आप ऐसे एपिसोड की सहायता ली जिसमें ट्रांसक्रिप्ट के बिना भी आप Shadowing technique इस्तेमाल कर पा रहे हैं ताकि आपका कॉन्फिडेंट लेवल और बढ़े ।

Leonardo English Podcast का सहारा आप ले सकते हैं इसमें हर एक एपिसोड का आपको ट्रांसक्रिप्ट मिल जाएगा जिसकी सहायता से आप shadowing technique आसानी से कर पाएंगे ।

मान लेते हैं कि आपको ट्रांसक्रिप्ट का सहारा नहीं लेना पड़ रहा है उस दौरान आपका पूरा फोकस जो आपने सुना है उसे दोहराने में होगा आप इस तकनीक का इस्तेमाल करके अपने listening और understanding skill को enhance कर पाएंगे ।

जो आपने सुना है उसकी mimicking करना शुरुआत के दिनों में थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन दोस्तों वह मंजिल ही क्या ! जिसमें तकलीफों का सामना न करना पड़े ।

Alexander Arguelles (अलेक्जेंडर अर्गुएल्स ) की सलाह माने तो आपको शैडोइंग तकनीक का इस्तेमाल बाहर चलते समय करना चाहिए ।

आपको यह बात अजीब लग रही होगी कि इस तकनीक का इस्तेमाल बाहर तेजी से चलने से क्यों किया जा रहा है ।

उद्देश्य है कि मस्तिष्क में ऑक्सीजन का प्रवाह बनाए रखना है ताकि आप ज्यादा सतर्क हो जाएं और आपके मस्तिष्क की कार्य क्षमता में वृद्धि हो ।

दोस्तों आपको बात सुनने में जरूर अजीब लग रही होगी कि Alexander Arguelles ने इस तकनीक का इस्तेमाल करके 50 अलग-अलग भाषा सीखी हैं ।

क्या शैडोइंग से इंग्लिश में सुधार होता है?

जी हाँ ,Shadowing technique सें इंग्लिश में सुधार होता है क्योंकि जब आप नकल करते है तब pronunciation ,intonation, rhythm इन सब पर आपकी अच्छी पकड़ बनती है ।

Shadowing Technique to learn English

मान लेते हैं आपका एक दोस्त है जिसे वह भाषा बहुत अच्छे से आती है जिसे आप सीखना चाहते हैं तो आपको ज्यादा कुछ नहीं जो भी उसके बोले हुए वाक्य हैं उसे दोहरा दीजिए, इसे ही language mimic game कहते है ।ऐसा करने से आप भाषा सीख जाएंगे,Shadowing technique इसलिए महात्वपूर्ण हैं ।

Steps to follow shadow Technique in Hindi

1. आपको ऐसा ऑडियो choose करना है जो आपके interest के according हो ,साथ ही आपके लेवल से मैच कर रहा हूं ।इंसान अपने skill के अकॉर्डिंग level का चुनाव कर सकता है ताकि शैडोइंग तकनीक का भरपूर फायदा उठा सके ।

2 .ऑडियो के साथ अगर transcripts and quizzes आपके सामने हो तो और फायदा मिलेगा इसके लिए आप BBC Learning English का इस्तेमाल कर सकते हैं ।

3 .इंग्लिश ऑडियो को सुनना है और हिंदी ट्रांसलेशन read करना है ताकि आप अच्छे से समझ सके और बोलते समय आपको उसका meaning समझ आए ।

4 . शैडोइंग तकनीक का इस्तेमाल आप pronunciation में सुधार लाने के लिए कर रहे हैं ।ऑडियो को सुनते ही आपको उसके साथ बोलना है ताकि आप native Speaker जैसे बोल पाएं ।

5 .Shadowing technique इस्तेमाल करते समय आप अपनी आवाज को रिकॉर्ड भी कर सकते हैं ताकि आप तुलना कर सके कि नेटिव स्पीकर ने और आपने कैसे बोला है ।

6 .जिस क्षेत्र में आपको सुधार की जरूरत लगी वहां सुधार कीजिए ताकि आप उनके जैसा बोल पाएं ।

7. इस प्रक्रिया को आप रोजाना कर सकते हैं ताकि आपका कॉन्फिडेंट लेवल बढ़े और आप जल्द ही नेटिव स्पीकर की तरह बोल पाएं ।

shadowing technique to learn english

8 .सक्रिय अध्ययन – यहां तकनीक को अपनाने के लिए सक्रिय रूप से शामिल होना चाहिए क्योंकि जब आप अधिक ध्यान केंद्रित कर पाएंगे तब ही आप बेहतर परिणाम पाएंगे ।

9 .समय सीमा -आपको इस तकनीक को ज्यादा से ज्यादा 10 से 15 मिनट करना चाहिए ।

10 .एक ऑडियो के अंश को बार बार दोहराने से आपको लाभ होगा इस प्रक्रिया को आप दो से चार बार एक दिन में कर सकते हैं ।

11. इस तकनीक का इस्तेमाल आप कई कार्य करते हुए भी कर सकते हैं जैसे कि जब आप अपनी कार में कहीं जा रहे हो , jogging के दौरान आदि ।

Unlock the Power of Language :Examples of Collocation words with meaning

English सीखो, Confidence बढ़ाओ:Daily Use English Sentences With Meaning In Hindi

FAQ related to Shadowing Technique to learn English

Q .शैडोइंग तकनीक कैसे मददगार है ?

Ans.शैडोइंग तकनीक आपको कई पहलुओं में मदद कर सकती है जैसे की अंग्रेजी के रिदम ,उच्चारण आदि ।

Q .छायांकन कैसे मदद करता है?

Ans.छायांकन तकनीक आपको विभिन्न पहलुओं को विकसित करने में मदद करती है इसमें अंग्रेजी का उच्चारण ,छंद , लय जैसे चीज शामिल है ।Shadowing तकनीक से आप मुंह की मांसपेशियों को विकसित करते हैं ताकि अन्य भाषा का उच्चारण आप आसानी से कर पाएं।

इस लेख में आपने Shadowing Technique के बारे में समझा , उम्मीद है आपको अच्छे से समझ आ  गया होगा ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram