Stop Laziness In Hindi

आलस दूर करने का मंत्र -Stop Laziness In Hindi

इस लेख में आप बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक पढ़ने वाले हैं ,टॉपिक का नाम है “आलस दूर करने का मंत्र -Stop Laziness In Hindi

Stop Laziness In Hindi

दोस्तों !जानते तो हम सब हैं कि आलसीपन हमारे जीवन में सिर्फ अंधकार ही लेकर आएगा ,फिर भी जाने अनजाने हम अपने जीवन में laziness को एक विशेष जगह देते हैं ।

Q .आलसीपन क्या है? (What is laziness? )

Ans.जब इंसान जानता है कि कौन सा कार्य आवश्यक है फिर भी वह तालमटोल करता रहता है तो इस स्थिति को आलसीपन कहते हैं , आसान भाषा में कहूं तो दिमाग की एक ऐसी अवस्था है जिसे मालूम है कि कौन सा कार्य आवश्यक है फिर भी उस काम को टालता रहता है ।

आलस्य क्यों आता है ? ( 5 causes of laziness )

पाँच कारण जिससे शरीर में सुस्ती आती है : –

1 . किसी कार्य को करने की इच्छा कम होना -जब इंसान को कोई कार्य में अपना फायदा नहीं नजर आता है तो वह टालमटोल करता है और जिसके कारण वह आलसी बन जाता है ।

2.चिंता और डर – कई बार ऐसा होता है इंसान को समझ होती है कि यह कार्य उसके लिए महत्वपूर्ण हो सकता है लेकिन वह चिंता और भय के कारण कोई कदम नहीं लेता जिसके कारण भी वह आलसी बन जाता है ।

3. Perfectionism के पीछे भागना – कुछ लोग काम को करने से पहले सोचते हैं कि जब वह उस कार्य में माहिर होंगे तब ही वह कार्य करेंगे ,जबकि उनका यह सोचना गलत है क्योंकि कार्य में परफेक्शन , कार्य करते-करते ही आता हैं ।इंसान जब बहाने बनाता है तो ना चाहते हुए भी अपने आप को आलसी बना देता है ।

4.बोरियत और थकान: जब व्यक्ति को अपने काम में बोरियत और थकान महसूस होती है तो वह कार्य ना करने के बहने ढूंढता है जिसकी वजह से उसका आलस्पन बढ़ाते जाता है ।

5. आसान विकल्प का चुनाव पहले करना -आसान कार्यों को इंसान प्राथमिकता देता है , जिसके कारण वह श्रेष्ठ कार्य को महत्व नहीं देता और वह खुद अपने आप को आलस्पां की ओर ले जाता है ।

Stop Laziness In Hindi

Disadvantage of laziness (आलसीपन के नुकसान )

* समय की बर्बादी -आलसीपन की वजह से इंसान अपने महत्वपूर्ण कार्य को कर नहीं पता है इसे समय की बर्बादी होती है और मनचाहा परिणाम कभी नहीं हासिल होता ।

* अधूरे काम का बोझ -जब इंसान अपने आलस्पां को ज्यादा महत्व देता है तो उसके कई काम अधूरे रह जाते हैं और कार्य का बोझ दिन-ब-दिन बढ़ते जाता है

* अवसरों को खोना -आलस्पां की वजह से वहां कई अवसर खो देता है और उसे पछतावा होता रहता है

* खुद पर अविश्वास बढ़ना -जब इंसान के कार्य अधूरे रह जाते हैं तो उसे यह यकीन आने लग जाता है कि वह कोई काम के काबिल है ही नहीं ।

* स्वास्थ्य पर बुरा असर -अधूरे काम और आलस्पां की वजह से ना ही वह अपना कैरियर बन पाता है और ना ही अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दे पता है इसलिए स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है ।

Also read 👇👇

Saam Daam Dand Bhed Explained: Aapko Ye Secrets Kab Tak Chhupaye Gaye?

Janiye Apne Mann Ki Chupi Baatein:Personality Disorder and It’s Types in Hindi

How to reduce laziness(आलसीपन कैसे कम करें?)

How to kill laziness के बारे में अपने कई बार पढ़ा होगा । खुद से सवाल कीजिए कि एक बार में पहाड़ अगर आपको चढ़ाना पड़े तो दिक्कत हो सकती है ना !

जी हां कोई भी कार्य एक बार में नहीं हो सकता इसलिए हमें कार्यों को छोटे-छोटे भागों में बांट देना चाहिए ताकि कार्य कठिन ना लगे और उस कार्य को व्यक्ति आसानी से कर ले ।

Stop Laziness In Hindi

* बड़े लक्ष्य को छोटे कार्यो में बांट दें -अपने लक्ष्य को छोटा बनाएं ताकि आप उन्हें पूरा कर सके और जब आपके लक्ष्य पूरा हो जाएं तब अपने आप को खुद शाबाशी दे , ऐसा करने से आप अलसीपन को दूर कर सकते हैं ।

* माहौल बनाओ, आलसीपन भगाओ –ऐसी जगह अपने कार्य करने के लिए चुने जहां आपको कोई डिस्ट्रैक्शन ना हो ।ऐसा माहौल बनाने से आपको कार्य करने में आसानी होगी और आप अपना काम समय में खत्म कर सकते है ।

*दोस्तों और रिश्तेदारों की ले मदद – दूसरों को अपने लक्ष्य के बारे में जरूर बताएं ताकि आपके ऊपर एक जिम्मेदारी बनी रहे कि मुझें सामने वाले व्यक्ति को पॉजिटिव रिजल्ट शो करना है ।

* रणनीतियां अपनाएं -रणनीतियों को अपनाना सीखे जैसे की जब भी सफल हुए तो इनाम भी खुद को दे और अगर असफल हुए तो दंड भी आवश्यक दें ताकि आपको याद रहे कि काम करना कितना जरूरी है

*लालच का डंडा का इस्तेमाल करना सीखो -जब भी आपका मन टाल – मटोल या आलस्पां करें तो उसे थोड़ा सा लालच का डंडा दिखाएं ।लालच कई प्रकार से दिया जा सकता है जैसे कि नेटफ्लिक्स का नया शो तुम्हें देखने को मिलेगा या फिर दोस्तों के साथ गपशप करने का मौका मिलेगा ।

*Pomodoro Technique को अपनाएं – इस तकनीक में इंसान को 25 मिनट कार्य करना होता है और 5 मिनट की ब्रेक लेनी होती है ।ऐसा करने से वह लिमिटेड पीरियड तय करता है ताकि वह लिमिटेड समय में अपना काम खत्म कर सके और 5 मिनट की ब्रेक के बाद वह अपने आप को चुस्त बना सके ।

*ऐसा कोई साथी ढूंढो जो आपके हौसले को बुलंद करें -कई बार ऐसा होता है कि कार्य को करते समय हम बोरियत महसूस करते हैं यदि आपके साथ कोई ऐसा साथी हो जो आपके होंसले को बुलंद कर सके तो कितना अच्छा होगा ना !

* खुद को समझने का प्रयास करो – आखिर क्यों इंसान अपने अलसीपन की वजह से अपना भविष्य बर्बाद करने के चक्कर में लगा हुआ है ।

क्या वहां डर है या बोरियत ,जो भी हो उसका सामना करें ताकि आप ही अपने भविष्य को सुनहरा बना सकते हैं ।

Books on laziness In Hindi Language

FAQ related to ” Stop laziness in Hindi “

Qआलस्य से छुटकारा कैसे पाएं?

  • Ans .हल्का भोजन करें ।
  • आज का कार्य आज ही इतना प्रयास करें ।
  • समय का महत्व समझे ।
  • एक्सरसाइज करें ।
  • काम को बोझ ना समझे

Q .आलस करने से क्या होगा?

Ans.आलस करने से सिर्फ समय नष्ट होता है ।आलसी व्यक्ति के उन्नति के द्वारा वह स्वयं ही बंद कर देता है जिसके कारण वह तनाव और डिप्रेशन में चल जाता है ।

इस लेख में आपने ” Stop Laziness In Hindi ” के बारे के पढ़ है ।उम्मीद है कि आपको जानकारी महत्वपूर्ण लगी होगी , इसे ज्यादा से ज्यादा share करें ताकि अन्य लोगों की भी मदद हो सके ।

💕💕💕

Related Posts

2 thoughts on “आलस दूर करने का मंत्र -Stop Laziness In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram