Interesting Story In Hindi With Moral

Dil Ko Chhoo Jayegi Ye Kahaani: Interesting Story In Hindi With Moral

आज का लेख “Interesting Story In Hindi With Moral “उन लोगों के लिए है जो अपने जीवन में बदलाव लाना चाहते हैं ।

जीवन में बड़े बदलाव छोटे कदमों से आता है यह बात तो हम सब जानते हैं लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक जाते हैं अपने बच्चों को और आसपास के लोगों को सही राह दिखाने में !क्या आप भी उनमें से एक है ?

❤️❤️❤️Short Inspirational Story With Moral (नाम के रिश्ते रखने का क्या मतलब है )

हमारे आसपास ऐसे कई लोग हैं जो हमें आगे बढ़ते नहीं देख सकते इसलिए वह हमेशा कोई ना कोई  कमी निकालते रहते हैं । इस मोटिवेशनल स्टोरी के माध्यम से आप अपने जीवन में तमाम दिक्कतों को समाप्त कर सकते हैं ।

Interesting Story In Hindi With Moral

इस समय की बात है एक घर में आग लग जाती है । घर के सारे सदस्य बाहर निकाले जाते हैं ,उस घर के सभी व्यक्ति अपने घर की आग को बुझाने में लग जाते हैं ।

कहने को तो आसपास एक दूसरे के सुख-दुख में काम आने वाला बहुत होता है ,लेकिन कहते हैं ना दोस्तों असली इंसान की पहचान दुख के समय होती है ।

कुछ लोग ही ऐसे थे जो आग को बुझाने का प्रयास कर रहे थे ।

उस घर में एक घोंसला भी था उस घोसले में चिड़िया रहा करती थी ।जब चिड़िया को समझ आया कि घर को आग लग गई है तो वह आग को बुझाने के लिए अपनी चोंच में पानी भारकर आग में डालने लगी ।

उसे देखकर कौआ कहने लगा कि घर इतना बड़ा है और तुम्हारी चोंच इतनी छोटी , तुम कैसे इस आग को बुझ सकती हो !

दोस्तों ! आप बात चिड़िया की सुनकर हैरान रह जाएंगे कि वह कहती है कि भले ही मेरी चोंच छोटी है लेकिन इरादे नेक हैं ।

जब भी मुझे याद किया जाएगा तो मेरी गिनती घर को बचाने में की जाएगी और बाकियों की गिनती तमाशा देखने में ।

Moral of the story

दोस्तों इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि चाहे जिंदगी में दोस्त कम हो लेकिन दोस्त ऐसे होने चाहिए जो आपके दुख और सुख दोनों में साथ खड़े हो “नाम के रिश्ते रखने का क्या मतलब है “

Also read 👇👇👇

Life-Changing Secrets Revealed – Short Motivational Story in Hindi

Short Motivational Story In Hindi

Motivational story for students – मोटिवेशनल स्टोरी फॉर स्टूडेंट्स (बहाने बनाना बंद करें )

मजा करना हर इंसान को अच्छा लगता है लेकिन कष्ट तो तब आता है जब कार्य करना पड़े ।एक समय की बात है चार दोस्त बहुत घूमा करते थे ।जब कॉलेज में बताया गया की exam इस तारीख को है तो उन्होंने इस बात को हल्के में ले लिया और अपनी मौज मस्ती में डूबे रहे ।

Short Inspirational Story With Moral

चारों दोस्त रात को पार्टी कर रहे थे और अगले दिन एग्जाम था । जब वे कॉलेज पहुंचे तो पता लगा की एग्जाम का टाइम भी खत्म हो गया है फिर उन्होंने एक प्लान बनाया और प्रिंसिपल के ऑफिस पहुंच गए ।

उनका प्लेन कामयाब रहा और प्रिंसिपल ने एग्जाम next day लेने का फैसला किया ।

चारों दोस्त बेहद खुश क्योंकि उनका प्लान कामयाब हो गया था । वे दिन भर पढ़ कर जब next day कॉलेज जाते हैं तो चारों को अलग-अलग क्लास में बैठने के लिए कहा जाता है ।

होश तो तब उड़ते हैं जब जनाबो को पेपर में सिर्फ एक सवाल दिखता है ।

उन्होंने बहाना बनाया था कि वे एग्जाम में इसलिए नहीं पहुंच पाए क्योंकि उनका कार का टायर पंचर हो गया था इसलिए वह एग्जाम में समय से नहीं पहुंच पाए ।

एग्जाम में उनके सामने सवाल आया कि कार का कौन से टायर पंचर हो गया था ?

वे सब हैरान रह गए इसे कहते हैं “शेर के सामने सवा शेर मिल जाना ” ।

Moral of the story

इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि इंसान को झूठ नहीं बोलना चाहिए और सच के मार्ग में चलते रहना चाहिए ।बहाने बनाना बंद करें नही तो जींदगी खराब होने में ज्यादा वक्त नही लगता ।

Best Motivational Story books 📚👇

Vinayak Damodar Savarkar

A Story of Struggle in Hindi / संघर्ष की एक कहानी

❤️❤️ Inspiration story in Hindi (सही समय में पहचान मिलेगी )

एक समय की बात है बत्तख पेड़ के नीचे अंडे देती है ।वह अपने बच्चों का इंतजार करने लगती है कि कब अंडो से मेरे बच्चे बाहर आएंगे ।समय बीत गया , देखते ही देखते हैं सभी अंडों से बच्चे बाहर आ गए सिवाय एक अंडे के, मां सोचने लगी शायद यह बच्चा थोड़ा और समय लेगा इसलिए वहां प्रतीक्षा करने लगी ।

Interesting Story In Hindi With Moral

वह बच्चा भी कुछ दिनों बाद अंडे से बाहर आ गया लेकिन अन्य बच्चों जैसा वह खूबसूरत नहीं था इसलिए मां थोड़ा उदास हो गई ।

धीरे-धीरे वह बच्चा बड़ा होने लगा लेकिन कोई भी उस बच्चे के साथ खेलना पसंद नहीं करता था क्योंकि वह बदसूरत दिखता था ।

एक दिन वह उदास हो गया और सोचने लगा क्यों ना मैं अपने परिवार को छोड़कर चले जाओ क्योंकि हर कोई मुझसे दूर रहता है अगर मैं यहां से चले जाऊंगा तो हो सकता है वे खुश हो जाएं ।

वह जंगल की ओर चले जाता हैं जहां हर कोई उसे अपने झुण्ड में रखने के लिए तैयार नहीं होता ।

देखते देखते वह बड़ा हो जाता है और एक राज हंसिनी की तरफ आकर्षित होता है वह सोचता है कि मुझे राज हंसिनी कैसे मिल सकती है क्योंकि मैं इतना बदसूरत हूं और उसके काबिल नहीं हूं ।

जब पानी पी रहा होता है तब वह अपने छवि पानी में देखकर हैरान रह जाता है और उसे पता चलता है कि वह एक बत्तख का बच्चा नहीं बल्कि हंस का बच्चा है ।

उसे फिर तब समझ आता है कि हंस का बच्चा होना के कारण उसकी छवि अन्य बच्चों से अलग थी ।

जब राज हंसिनी से मिलता है तो उन दोनों के बीच में आकर्षक बढ़ता है और वे दोनों हंसी खुशी साथ में रहने लग जाते हैं ।

इस कहानी से हम यह शिक्षा मिलती है जरूरी नहीं है कि जो लोग हमें समझते हैं  ,हम वही हो ।

हो सकता है कि हम उनकी सोच से अलग हो और उनसे भी स्पेशल हो ।इसलिए अपने आप को कभी भी छोटा नहीं समझना चाहिए बल्कि अपना अस्तित्व बनाकर अपनी एक पहचान बनाने चाहिए ताकि लोग समझ सके कि आप क्या deserve करते हैं ।

❤️❤️ Inspiring motivational Story for youngsters in Hindi (बूढ़े गिद्ध की सलाह की कहानी )

दोस्तों मौज मस्ती की जिंदगी किसे नहीं पसंद आती ? आज आप इस कहानी के जरिए एक ऐसी शिक्षा लेने वाले हैं जिसे अगर आप अपने जीवन में लागू कर ले तो आपका खुशहाली जीवन बन जाएगा ।

Interesting Story In Hindi With Moral

एक समय की बात है जब गिद्धो की झुंड को यह बात का पता लगता है कि एक टापू में उन्हें बिना मेहनत किए खाने की सभी चीज मिल जाएगी ।

वे झुंड बिना सोचे उस टापू की ओर चला पड़ता ।वे सब बेहद खुश क्योंकि उन्हें बिना मेहनत किए खाना मिल रहा था और वह अपने आने वाला समय को वही बिताना चाह रहे थे ।

उनकी सोच उनके लिए सही थी लेकिन बुढ़े गिद्ध ने उन्हें चेतावनी दी और कहा कि तुम्हें जंगल में ही रहना चाहिए क्योंकि वहां रहकर जब तुम शिकार करोगे तो अपने शिकार के कौशल को और विकसित कर सकोगे लेकिन अगर तुम बिना शिकार किया ऐसे ही खाना खाते जाओगे तो वह दिन दूर नहीं है जब तुम्हें कोई शिकार बना लेगा और तुम अपने पंजों का इस्तेमाल नहीं कर पाओगे ।

बुढ़े गिद्ध की बात सुनकर सब हंसने लगे और कहते हैं कि जब बैठे-बैठे खाना मिल रहा है तो शिकार करने की क्या जरूरत है ? अपने आपको कष्ट देने की क्या जरूरत है ?

वे सभी बुढ़े गिद्ध का मजाक उड़ाने लगे और कहने लगे कि बुढ़ापे ने इसकी मत मार गई है

बुढ़े गिद्ध उन्हें समझाने में असफल रहा लेकिन वहां से वह चले गया और अपनी मेहनत से शिकार करता रहा।

बहुत समय बीत गया था तो बुढ़े गिद्ध ने सोचा चलो अपने पुराने साथियों से मिलकर आता हूं ।

जब वहां पहुंचा तो हैरान रह गया क्योंकि सब मारे जा चुके थे सिर्फ एक घायल गिद्ध वहां पर था ।

जब उस घायल गिद्ध से पूछा गया कि तुम्हारे साथ क्या हुआ तो उस गिद्ध ने बताया कि चीतों का झुंड यहां आया था जिसने हमारी यह दशा कर दी ।

हम इतने असहाय हो गए थे कि अपने पंजे तक का भी इस्तेमाल नहीं कर पाएं ।

Moral of the story

दोस्तों इस कहानी से हम यहां शिक्षा मिलती है कि क्षण भर के सुख के लिए अपने कबीलत को बढ़ाने से ना रोक दें ।

आप जितनी अपनी Strength को मजबूत करेंगे उतना ही आपका भविष्य secure बनता जाएगा ।

उम्मीद है दोस्तों !आपको यहां लेख “Interesting Story In Hindi With Moral” की जानकारी पसंद आई होगी ।आप इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि ,कहानी के माध्यम से इंसान अपने जीवन में सही राह में चल सके और सही निर्णय ले पाए ।

अपना कीमती समय देने के लिए आपका तहे दिल से शुक्रिया 🙏😊💕💕💕

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram