Short Inspirational Story With Moral

Short Inspirational Story With Moral: Chhota Sa Sabaq, Bada Parivartan! 🌈🚀”

इस लेख “Short Inspirational Story With Moral “में आप ऐसी शिक्षा ग्रहण करने वाले हैं जिसके बाद आपको कोई भी मोटिवेशनल स्टोरी सुनने या पढ़ने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी ।

हम सबको मोटिवेशनल कहानी बहुत पसंद आती है अगर आपको inspiring motivational Story सुना और पढ़ना पसंद है तो आप सब का स्वागत है।

Short Inspirational Story With Moral

इस लेख में हम आपको डैन मिलमैन  (Dan Millman )के बारे में बताने वाले हैं।

यह रियल लाइफ में एक ऐसे योद्धा रहे हैं जिनका मुकाबला करना हर किसी की बस की बात नहीं है।

डैन मिलमैन के सफर के बारे में अतिरिक्त जानकारी के लिए आपको यह लेख पढ़ने होगा

इनका जन्म 1946 ,लॉस एंजिल्स में हुआ है और आपको जानकर हैरानगी होगी कि कम उम्र में ही gymnastics में Excellent रहे हैं।

इनका शुरू से ही सपना रहा है कि ओलंपिक में गोल्ड मेडल हासिल करें ताकि वह अपना नाम इतिहास के पन्नों में रच सके।

डैन मिलमैन को अपने आप पर घमंड था जिसके कारण वह सबको नीचा दिखाते रहते थे।

जीवन में ऐसी कोई काम नहीं था जो उन्होंने न किया हो जैसे की शराब पीना , नशा करना और कई औरतों के साथ संबंध बनाना ।

फिर भी डैन मिलमैन अपनी जिंदगी से खुश नहीं थे ।एक दिन उन्हें यह सपना आया कि उनका एक पैर चकनाचूर हो गया है जिसके कारण उनका ओलंपिक में गोल्ड मेडल हासिल करने का सपना अधूरा रह जाएगा ।

यह सपना जैसे ही उन्होंने देखा उनकी नींद खुल गई और वह अपनी चिंता को दूर करने के लिए बाहर निकल गए ।

बाहर घूमते समय Dan की मुलाकात एक व्यक्ति से होती है ,वह व्यक्ति Dan को थोड़ा अलग लगता है ।ऐसा इसलिए क्योंकि वह व्यक्ति बहुत ही बुढ़ा था और अपने अनुभव के मुताबिक वह डैन मिलमैन से सवाल-जवाब कर रहा था ।

उस समय तो डैन मिलमैन वहां से चल गया क्योंकि उस बुढ़े व्यक्ति के सवाल जवाब Dan को तंग कर रहे थे इसलिए वह वहां से चल गया ।

Short Inspirational Story With Moral

लेकिन अगले दिन Dan फिर से उस आदमी से मिलने का प्रयास करता है और बातें करना शुरू करता है ।

बातों ही बातों में वह व्यक्ति Dan से पूछता है क्या तुम अपनी जिंदगी से खुश हो ?इस सवाल के उत्तर में Dan कहता है कि मेरे पास जिंदगी को एशो आराम से जीने के लिए सारी सुविधा है ।

अब बूढ़ा व्यक्ति मुस्कुराता है और कहता है कि कल भी तुम रात के 3:00 बजे इधर-उधर टहल रहे थे और आज भी रात के समय तुम इधर-उधर टहल रहे हो इसका मतलब है कि तुम अंदर से खुश नहीं हो ,बाहर से खुश रहने का दिखावा कर रही हो।

डैन मिलमैन उसकी बातों से परेशान होकर उसके तरफ भारी समान फेकता है लेकिन वह बुढ़ा व्यक्ति उस समान को बिना देखे पकड़ लेता है और कहता है कि तुम्हारी concentration power कम है इसीलिए तुम अपने फील्ड में जो सफलता हासिल करना चाहते हो वह नहीं कर पा रहे ।

बिना देखे कोई चीज अपने हाथ में पकड़ लेना यह कला को देखकर Dan हैरान हो जाता है और उस व्यक्ति को नाम देता है “सोक्रेटीस ”

सोक्रेटीस को अपना गुरु Dan बनते है ताकि वह उनसे कुछ सीख सके। शुरुआत में सोक्रेटीस Dan को कुछ कार्य देता है ताकि उसका घमंड कम हो सके।

वाशरूम साफ़ करना , झाड़ू लगाना, पेट्रोल भरना काम करने से Dan तंग आ जाता है और झगड़ा करना शुरू कर देता है

और झगड़ा करने के कारण वह सोक्रेटीस से कोई शिक्षा नहीं लेता और वहां से चल जाता है लेकिन सोक्रेटीस द्वारा सीखी हुई शिक्षा जब Dan gymnastics में करता है तो वहां के सभी लोग तारीफ करने लगते हैं और यहां तक कि Dan का coach भी उसकी तारीफ करता है।

Dan अपनी पुरानी जिंदगी में वापस चल जाता है जहां वह शराब और इत्यादि नाशे किया करता था।

एक दिन Dan का एक्सीडेंट हो जाता है जिसकी वजह से उसके एक पैर में मेटल की लात लगानी पड़ती है।

ओलंपिक में गोल्ड मेडल हासिल करने का सपना चूर हो जाता है और उसे फिर से सोक्रेटीस की याद आती है।

वह सोक्रेटीस से मिलने के लिए जाता है , और वहां सोक्रेटीस उसे सलाह देता है कि तुम्हें अपना अभ्यास करते रहना चाहिए।

Dan उनसे कहता है कि मेरा एक पैर मेटल का है तो मैं अभ्यास कैसे कर सकता हूं ?

अभ्यास करने से मेरी जान भी जा सकती है ,उसका गुरु उसे समझाना है कि एक योद्धा के लिए जीत से बढ़कर कुछ नहीं होता यहां तक की उसकी जान भी नहीं

Dan कहता है कि मुझे ओलंपिक में गोल्ड  मेडल हासिल करने की इच्छा है ना कि ऐसे ही अभ्यास करने की

Dan कहता है कि मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है क्या करना उचित रहेगा ?

सोक्रेटीस उसे 4 घंटे की यात्रा में ले जाता है और कहता है कि मैं तुम्हें कुछ विशेष बताने वाला हूं जिसे तुम्हें पाकर खुशी मिलेगी ।

वे दोनों पहाड़ की ऊंचाइयों की ओर चलने लगते हैं करीब 4 घंटे के बाद जब वह मंजिल में पहुंच जाते हैं तब वह बताता है कि यह पत्थर ही तुम्हारी मंजिल है ।

Dan क्रोधित होकर उसे सवाल करता है कि 4 घंटे की यात्रा में मैं बहुत खुश था कि ऐसा कुछ है जिसे पाकर मेरी जिंदगी में बदलाव आ जाएगा और मैं खुश हो जाऊंगा लेकिन तुमने मेरी ख़ुशी बर्बाद कर दी ।

सोक्रेटीस उसे समझाने का प्रयास करता है जैसे कि जब तक तुम्हें नहीं मालूम था कि तुम्हें क्या हासिल होने वाला है तुम बेहद उत्साहित थे और अपने वर्तमान समय को खुशी से एंजॉय कर रहे थे लेकिन जैसे ही तुम्हें पता चला कि तुम्हें एक पत्थर का टुकड़ा मिला है तो तुम निराश हो गए ।

इस उदाहरण से सोक्रेटीस ,Dan को समझने का प्रयास करता है कि

मंजिल हासिल करने से हसीन है मंजिल के सफर को इंजॉय करना

इसलिए चाहे तुम ओलंपिक में शामिल हो या ना हो तुम्हें अपना अभ्यास करते रहना चाहिए।

Dan अपने गुरु की बात मानता है क्योंकि उसे समझ आ गया था कि वर्तमान समय को इंजॉय करने से ही इंसान को असली खुशी मिलती है ।

Dan अपना अभ्यास शुरू करता है ,उसके दिन प्रतिदिन अभ्यास करने से उसके अंदर अत्यंत बदलाव आता है और वह लोगों के नजरों में आने लगता है ।

Dan का कोच उसकी अभ्यास की क्रियो को देखकर दंग रह जाता है और इसी कारण Dan का नाम ओलंपिक में शामिल कर देता है ।

ओलंपिक में वह अपने फोकस के साथ अपनी क्रियोओ को कर रहा होता है । उसे यह लालच नहीं थी कि उसे गोल्ड मेडल हासिल होगा या नहीं ।

अपने focus से वह कार्य कर रहा था इसीलिए वह विजेता भी घोषित हुआ और उसे गोल्ड मेडल भी हासिल हुआ ।

दोस्तों इस Short Inspirational Story  के माध्यम से हम सबको यह शिक्षा मिलती है कि जीवन में जो कार्य आपको अत्यंत सुख देता है ,उस कार्य को करना ही चाहिए ताकि आप अपने वर्तमान के क्षण को इंजॉय कर पाएं ।

Dan Millman की कई ऐसी किताबें आपको मिल जाएगी जिसमें उन्होंने अपने life experience share किया है ।

Dan Millman की किताबें आपको अपने जीवन में एक बार जरूर पढ़नी चाहिए ताकि आप समझ सके की जीवन में कौन सा निर्णय आपको करना चाहिए और जीवन की राह में कैसे चुनौतियों का सामना करते हुए आगे बढ़ते जाना है ।

Dan Millman’s  Books 📚 : (Life-Changing story Book )

शांतिप्रिय योद्धा के क्या उद्देश्य है ?

“शांतिप्रिय योद्धा” में चार उद्देश्य दिए गए हैं हम सबको इन उद्देश्यों का पालन करना चाहिए ।

1. हमें जागृत रहना चाहिए ताकि हम अपने जागरूकता के सहायता से अपने जीवन में खुशहाली ला सके ।

2 .खुद से प्यार करना और अपनों का ख्याल रखना , इंसान को आना चाहिए ।

3 .शांति और प्रेम की भावना उत्पन्न करना इंसान के अपने हाथों में होती है ।

4.अपने जीवन में कभी भी सीखना बंद मत करें क्योंकि जब इंसान सीखना बंद करता है तो जीवन अंधकार में डूब जाता है ।

Must Read 👇👇

“संघर्ष से सफलता तक:short Inspirational Story In Hindi

Inspirational stories of real life heroes in hindi( Khan sir and Priya Singh)

उम्मीद है दोस्तों आपको यह लेख “Short Inspirational Story With Moral ” की जानकारी पसंद आई होगी ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram