short Inspirational Story In Hindi

“संघर्ष से सफलता तक:short Inspirational Story In Hindi

कहानियां अपने कई सुनी होगी लेकिन जो कहानी इस लेख में Short Inspirational Story In Hindi “आप सुनने वाले हैं ,उसे आपके जीवन में परिवर्तन आना तय है। यह प्रेरणादायक कहानियां आपकी जीवन में सकारात्मक सोच और उज्जवल भविष्य ला सकती हैं ।

इंसान तो आम होता है लेकिन खास बन्ना खुद के हाथ में ही होता है ।कुछ लोगों ने अपने मेहनत और संघर्ष से जो मुकाम हासिल किए हैं , उनकी चर्चा हर कोई करता है ।

short Inspirational Story In Hindi

इस लेख में आप कुछ ऐसे ही लोगों के बारे में जानेंगे जिससे आपके जीवन में बदलाव आएगा और आप हमेशा सकारात्मक सोच रखते हुए प्रयास करते रहेंगे।

# Real life Inspirational Stories In Hindi-(short Inspirational Story In Hindi )

दोस्तों एक बात समझ लीजिए जो व्यक्ति कहता है कि मैंने आज तक रिजेक्शन नहीं पाया ,वह झूठ बोल रहा है । जिस व्यक्ति ने अपनी हस्ती बनाई है, लोगों के बीच में अपना चर्चा करवाई है उसने कई बार failure और rejection का सामना किया होगा।

या तो फिर उस व्यक्ति का खुद का अस्तित्व ही नहीं होगा क्योंकि जिसने अपना अस्तित्व बनाया है उसने कई परेशानियों का सामना किया है और कई बार गिरा भी है लेकिन हर कोई अपनी जगह बना सकता है जो गिर कर उठना जानता हूं।

आज जिस शख्स की मैं कहानी आपसे चर्चा करने वाली हूं उसका नाम है जैक मा।

यह व्यक्ति अमीरों की गिनती में आता है इनकी 15 करोड़ की कंपनी है और यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी दुविधा का सामना किया।

जो व्यक्ति फेलियर ,रिजेक्शन और असफलता से घबराता नहीं है वह जीवन में कामयाब जाता है।

कुछ कर दिखाने का इंसान के अंदर जज्बा होना चाहिए ,इंसान गिर कर भी उठ सकता है ।

short Inspirational Story In Hindi

इनकी कहानी के माध्यम से आप समझेंगे कि आप भी failure , rejection आने के बावजूद भी अपने लक्ष्य को पा सकते हैं क्योंकि जिसके इरादे मजबूत होते हैं ,वह इंसान घबराकर नहीं डटकर सामना करना जानता है।

जैक मा पढ़ाई में इतने अच्छे नहीं थे आपको जानकर हैरानी होगी कि प्राथमिक स्कूल में दो बार फेल हुए फिर मिडिल स्कूल में 3 बार फेल होए । फेल होने का सिलसिला कॉलेज में भी रहा ।

एंट्रेंस एग्जाम कॉलेज की शुरुआत में किए जाते हैं इसमें fail होने के कारण jack ma को 4 बार एग्जाम देने पड़े।

Also read 👇👇

लाखों युवा मैनेजमेंट की डिग्री हासिल करने के लिए बहुत सारे पैसे खर्च करते हैं लेकिन e-commerce कंपनी का मालिक के पास कोई डिग्री नहीं है ना ही वह गणित में अच्छे हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी 15 करोड़ की कंपनी चलाने वाले जैक मा को गणित के विषय में 120 अंक में एक अंक मिला थे ।

जैक मा ने हावर्ड यूनिवर्सिटी में 10 बार आवेदन किया लेकिन उनका आवेदन रिजेक्ट कर दिया गया, अंत में इन्होंने हांगजो सामान्य विश्वविद्यालय से BA स्नातक कंप्लीट किया।

स्नातक समाप्त करने के बाद इन्होंने 30 से ज्यादा कंपनियों में आवेदन पत्र दिया लेकिन वह से भी रिजेक्शन हाथ आई।

इतना ही नहीं इन्होंने पुलिस अधिकारी बनने का सोचा लेकिन वह के सीनियर पुलिस अफसरों ने इन्हें देखते ही मना कर दिया। बड़े अफसरों ने इनके दुबले और छोटे कद के कारण इन्हें पुलिस अधिकारी बनने के लिए मना कर दिया।

हिम्मत न हारते हुए एक बार KFC के स्टोर में काम करने का विचार बनाया ।

जैक मा को जैसे ही पता चला कि स्टोर में स्टाफ की नियुक्ति की जा रही है तो जैक मा ने अपना आवेदन जमा कर दिया‌। 24 स्टाफ में से सिर्फ एक को ही निराशा हाथ आई वह और कोई नहीं वह इंसान जैक मा थे ।

असफलता और निराशा तो जैसे जैक मा का पीछा ही नहीं छोड़ रही थी। एक बार फिर उन्होंने हिम्मत की और वेटर की नौकरी करने की सोची ।उन्होंने कहा कि मुझसे कम पढ़े लिखे लोगों को नौकरी मिल रही थी पर मेरी शायद किस्मत ही सही नहीं थी जिसके कारण मुझे वेटर की नौकरी भी नहीं मिली।

निराशा को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया फिर एक बार उन्हें शिक्षक की नौकरी मिली जिसमें उन्हें ₹800 प्रतिमाह मिल रहा था लेकिन उस नौकरी से खुश जैक मा नहीं थे इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर खुद का व्यापार खोलने का सोचा ।

उनके खुद के व्यापार ने उनका नाम भी बनाया और उनकी तकदीर भी बदल दी ।

lnspirational story of successful person – (short Inspirational Story In Hindi )

दोस्तों इस कहानी “short Inspirational Story In Hindi “से हमें क्या प्रेरणा मिलती है जरूरी नहीं है कि जहां हम कदम रखे वहां सफलता प्राप्त कर लेंगे‌ ।

कई बार आपको रिजेक्शन , फेलियर और चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा लेकिन वह समय भी आएगा जब आप अपनी मंजिल को प्राप्त कर लेंगे।

हिम्मत न हारते हुए अपने लक्ष्य को पाने की पूरी कोशिश करें और कभी-कभी ऐसा होता है कि रास्ते में मुश्किल होती है इसलिए बिना निराश हुए अपने आपको बीते कल से बेहतर बनाने का प्रयास करें ।

# lnspirational story for students-( short Inspirational Story In Hindi)

दशरथ मांझी का नाम तो आपने सुना ही होगा । क्या आप इसकी प्रेरणादायक कहानी जानते ?

इस शख्स ने पूरे पहाड़ को काट कर एक रास्ता बना दिया ।

हथोड़ा और छेनी की सहायता से इन्होंने पूरा पहाड़ काट कर एक रास्ता तैयार कर दिया ।

कहते हैं दोस्तों जिस इंसान की बुलंद हौसले होते हैं वहां बहाने नहीं मारता है ।वह कार्य करने में यकीन करता है और अपने कार्य में सफलता हासिल करके ही मानता है ।

short Inspirational Story In Hindi

दशरथ मांझी को माउंटेन मैन के नाम से भी जाना जाता है ।असंभव कुछ नहीं अगर इंसान करने की इच्छा रखें ।

जहां दशरथ मांझी रहते थे वहां एक कस्बे में जाने के लिए पूरे पहाड़ के ऊपर चढ़ना पड़ता था तब जाकर उस कस्बे तक कोई व्यक्ति पहुंच पाता था ।

दशरथ मांझी के गांव के वासी को जब भी कोई जरूरत पड़ती तो वे भी पहाड़ को पार करते और अपने कार्य करते ।

एक दिन दशरथ मांझी की पत्नी दशरथ जी के लिए खाना लेकर जा रही थी तब दुर्भाग्यपूर्ण उनका पैर फिसल गया और तत्काल इलाज ना मिलने के कारण उनकी मौत हो गई ।

मौत का कारण पहाड़ था क्योंकि कोई भी कार्य करने के लिए उस पहाड़ को पार करना ही पड़ता था तब जाकर कोई भी कार्य हो पाता था ।

दशरथ मांझी की पत्नी का नाम फाल्गुनी देवी था ।दशरथ जी अपने पत्नी की मौत के बाद हताश हो गए थे ,उनकी मौत ने दशरथ जी को झकझोर कर रख दिया था क्योंकि इलाज के लिए पूरे पहाड़ को पार करने की आवश्यकता थी और ज्यादा समय ना मिलने के कारण उनकी पत्नी की मृत्यु हो गई ।

Short Inspirational Story In Hindi 

दशरथ मांझी ने एक संकल्प लिया कि छेनी और हथौड़ी की सहायता से रास्ता बनाएंगे ।

गांव के वासी दशरथ मांझी को देखकर हंसते थे और कहते थे कि फाल्गुनी देवी की मौत के बाद दशरथ मां जी पागल हो गए हैं इसलिए छेनी और हथौड़े की सहायता से पहाड़ के बीच में रास्ता बनाने का प्रयास कर रहे हैं ।

दशरथ मांझी ने उनकी बातों को अनसुना करते हुए अपने काम में जुटे रहे और देखिए आज दशरथ मांझी का नाम आज भी लोग ले रहे हैं और उनकी कहानी समझ कर प्रेरित हो रहे हैं ।

short Inspirational Story In Hindi

Inspirational Story In Hindi with moral

दोस्तों लक्ष्य को पाना किसी के लिए भी आसान नहीं होता ,दशरथ मांझी ने कई बरसाते , गर्मी और धूप झेली लेकिन एकाग्रता के साथ अपने लक्ष्य पर ध्यान रखा ।

दशरथ जी ऐसा इसलिए कर रहे थे क्योंकि जो उनके साथ हुआ वहां किसी अन्य व्यक्ति के साथ ना हो इसलिए वह दिन रात एककर के अपना लक्ष्य प्राप्त करने की सोचते रहते थे ।

22 साल की परिश्रम के बाद उन्होंने अपने गांव की वासियों का जीवन पूरी तरह से बदल कर रख दिया था ।पहले पूरे पहाड़ का चक्कर लगाने के लिए 80 किलोमीटर का फासला तय होता था अब सिर्फ 3 किलोमीटर का रास्ता तय करके कोई भी गांव का वासी शहर पहुंच सकता है ।

दशरथ मांझी जी की कहानी से हर उस व्यक्ति को शिक्षा लेना चाहिए जो हमें जीवन में कामयाब और सफल बना जाता है ।

जिस व्यक्ति को भी रातों-रात कामयाब होने की इच्छा है वह अपने दिमाग में एक सवाल पूछे कि ऐसा कौन सा व्यक्ति है जो रातों-रात कामयाब हो गया ?

सही रास्ता पकड़ते हुए मंजिल को पाना थोड़ा मुश्किल जरूर होता है लेकिन जीवन भर आपका नाम बना रहता है और गलत रास्ते पर चलकर कुछ समय के लिए नाम जरूर बन सकता है लेकिन आपकी जीवन को खराब कर सकता है ।

रास्ते इंसान के सामने हमेशा दो होते हैं अब किस रास्ते में आप चलना चाहते हैं वह आपके ऊपर निर्भर है ।

उम्मीद है आपको यह लेख “short Inspirational Story In Hindiकी जानकारी पसंद आई होगी । कृपया इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपना अनुभव हमारे साथ शेयर करना बिल्कुल ना भूले ।

Related Posts

3 thoughts on ““संघर्ष से सफलता तक:short Inspirational Story In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram