Mastery Book summary in Hindi

Seekhe Aur Apni Shaan badaye :Mastery Book summary in Hindi

सफल व्यक्ति बनना चाहते हैं ? सफलता एक skill में एक्सपर्ट बनने के बाद ही मिल सकती है । इस बुक “Mastery Book Summary in Hindi “में बताई गई सभी बातों को अगर आप ध्यान से पढते और इंप्लीमेंट करते हैं तो मेरा यकीन है कि आपको सफल बनने से कोई नहीं रोक सकता ।

Mastery Book summary in Hindi

Robert Greene की किताबें”The 48 Laws of Power, The 50th Law और The Art of Seduction पहले भी लोगों की जिंदगी में अनगिनत बदलाव ला चुकी है और आज यह किताब भी इन्हीं द्वारा लिखी गई है ।

हम में से बहुत लोग हैं जो टैलेंट , गुड लक और स्मृति जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं और कहते हैं कि मेरा जीवन इस कारण बदला है लेकिन इस किताब के लेखक हमें सही मायने में जीवन में कैसे कामयाब होना है उसकी रूल्स बता रहे हैं इसमें कुल 6 अध्याय हैं जिसकी सहायता से आप अपने जीवन में कामयाब व्यक्ति बन सकते हैं ।

Robert Greene ने ऐसे प्रैक्टिकल रूल बताए हैं जिसकी वजह से हर इंसान कोई भी क्षेत्र में कामयाब बन सकता है और उसमें मास्टरी हासिल कर सकता है ।

Mastery Book Summary  

Chapter 1

💞💞1) Discover your calling – The Life’s task

क्या आप Leonardo da Vinci को जानते हैं जी सही पहचाना ! यह 15वी शब्दावती के बड़े आविष्कारक और आर्टिस्ट रहे हैं।यह ज्यादा पढ़े लिखे नहीं है लेकिन कई कामों में जीनियस रह चुके हैं ।इन्हें लगता था कि हर एक इंसान के अंदर आंतरिक शक्ति होती है जिसका इस्तेमाल करके वह जीनियस बन सकते हैं ।

Leonardo को प्रकृति की खूबसूरती बेहद पसंद आती थी इसलिए वह प्रकृति की खूबसूरती को अवसर तारीफ करते थे।

यह तक की प्रकृति की खूबसूरती को समझने के लिए वह पहाड़ों और नदी के किनारे बैठकर प्रकृति की खूबसूरत तस्वीर बनाते थे ।

दोस्तों जैसे इस व्यक्ति ने समझा कि मेरा लक्ष्य क्या है मुझे क्या पसंद है और कैसे मैं अपनी ऊर्जा और ध्यान अपने लक्ष्य की ओर लगने से मेरा भला हो सकता है वैसे ही हर इंसान को समझना चाहिए अगर आप समझ जाएं कि आपका लक्ष्य क्या है ?कम शब्दों में कहूं तो आपको स्पष्टता होनी चाहिए कि आप जीवन में चाहते क्या है ?

कभी भी आप जीनियस लोगों को देखेंगे तो उनमें एक गुण तो आवश्यक पाएंगे उन्हें मालूम होता है कि उनका लक्ष्य क्या है और लक्ष्य हासिल करने के लिए उनके अंदर तीव्र इच्छा होती हैं।

Sir Issac Newton के बारे में बात करें तो वह ग्रेविटी के बारे में सोचते थे इसलिए उन्होंने अपने लक्ष्य की ओर कदम बढ़ाते हुए ग्रेविटी के नियम की खोज निकाल दी ।

ऐसे ही अल्बर्ट आइंस्टीन ने सफलता हासिल करने के लिए कार्य किए ,कड़ी मेहनत की और अपने लक्ष्य की ओर दिन रात आगे बढ़ने का प्रयास करते रहे ।

💞💞Steps for finding your calling

क्या आपको नहीं मालूम है कि आपके जीवन का उद्देश्य क्या है ? अगर नहीं मालूम है तो कोई बात नहीं रोबोट ग्रीन हमें कुछ तरीके बताते हैं जिसके जरिए आप जान सकते हैं कि आपके जीवन का उद्देश्य क्या है ?

💞💞Return to your origins:

इंसान को वही कार्य अत्यंत प्रिय लगता है जो कार्य बचपन में वह करना चाहते थे ।आपको खुद से सवाल करना होगा कि जब आप छोटे थे तो आपको कौन सा कार्य करना ज्यादा पसंद आता था ?

💞💞Occupy the perfect niche: सफल लोग अपने बचपन में झांक कर देखते हैं कि उन्हें कौन सा कार्य अत्यंत प्रिय लगता था वही कार्य वह जीवन में करना शुरू कर देते हैं ताकि जिस काम में दिलचस्पी हो वह कार्य भी लंबे समय तक कर सकते हैं ,उन्हें इस बात का अंदाजा लग गया होता है यही बात आपको भी समझना है ।

💞💞Avoid the false path:कई बार इंसान अपने दोस्तों और माता-पिता को देखकर अपने प्रोफेशन को बदल देता है यदि आप जीवन में सफल और खुशहाल रहना चाहते हैं तो दोस्तों जो कार्य आपको पसंद हो उसे में ही दिलचस्प दिखाएं ना कि लोगों की बातों में आकर या शोहरत के चक्कर में गलत रास्ते को ना अपनाएं ।

💞💞Let go of the past: कई बार ऐसा होता है कि इंसान भूतकाल में अपने किए गए फैसलों का पछतावा कर रहा होता है यदि आपके मन में कोई पछतावा है तो उन कार्यों को छोड़ दें और सीखें कौन से कार्य हमें अपने जीवन में नहीं करने हैं ।

💞💞Find your way back: कई बार इंसान सही रास्ते से भटक जाता है यदि आप भी मुश्किल देखकर सोचते हैं कि जो कार्य कर रहे हैं उसकी जगह कोई अन्य कार्य करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा तो यह आपकी गलतफहमी है क्योंकि हर कार्य में चुनौतियों का सामना तो करना पड़ता ही है ।

यदि आप सही कार्य की शुरुआत कर चुकी है तो उसे अंत तक जरूर लेकर जाएं ।

Mastery Book In Hindi

Chapter -2

2) Submit to Reality: The Ideal Apprenticeship

महत्वपूर्ण कदम हर इंसान को स्कूल और कॉलेज के बाद देना पड़ता है क्योंकि स्कूल और कॉलेज में हमें सिर्फ किताबी शिक्षा मिलती है । असली शिक्षा और प्रैक्टिकल नॉलेज हमें स्कूल और कॉलेज के बाहर मिलती है ,जहां हमें डिसाइड करना होता है कि हमें कौन से क्षेत्र में आगे बढ़ाना है ।

यह सवाल थोड़ा पेचीदा होता है लेकिन अगर आप थोड़ा ध्यान से समझे तो दोस्तों आपको वही कार्य चुना है जिसमें आपका दिलचस्प हो और मार्केट में उस कार्य की मांग हो ।

The three steps of the apprenticeship phase

💞💞Step one: Deep observation — the passive mode

गलत धारणाएं बनाने से बचें , बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो सोचते हैं की चापलूसी करना या लोगों को प्रभावित करने से उनका कुछ भला हो जाएगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है आपको सिर्फ सफल लोगों की तकनीके और नियम सिखाने चाहिए ताकि आप भी एक सफल व्यक्ति बन पाएं ।

💞💞Step two: Skill acquisition — the practice mode

एक बात अपने दिमाग में हमेशा रखें कि आप जब भी कोई स्किल सीख रहे हो तो आपको सिर्फ एक ही स्टील तरफ ही ध्यान देना है । एक समय में अगर आप ज्यादा skill सिखने की अपनी इच्छा जाहिर करेंगे तो इसका मतलब यह है कि आप समय की बर्बादी कर रहे हैं ।

आप एक समय में अगर एक ही स्किल को सीखेंगे तो उसमें महारत हासिल कर पाएंगे और आगे कर पाएंगे ।

दोस्तों कई बार ऐसा होता है कि हम जब कोई skill सीखते हैं तो हमारे सामने कई चुनौतियां आती है , हम चुनौतियों का सामना अभ्यास से ही कर सकते हैं ।अगर आपको शॉर्टकट अपनाएंगे और अभ्यास करने से बचेंगे तो यकीन मानिए टाइम और पैसा दोनों ही waste होगा इसलिए अभ्यास में ध्यान दें ना की कोई शॉर्टकट रास्ता अपनाएं ।

💞💞Step three: Experimentation — the active mode

जब आप ट्रेनिंग में नई skills सीखते हैं तो उसके बाद समय आता है उन skills को apply करने का |

Value learning over money:

अक्सर ऐसा होता है कि इंसान स्किल सीखने के बाद तुरंत पैसा कमाने की इच्छा रखने लगता है ।आपको ट्रेनिंग के दौरान सीखे गए skill पर कार्य करने की आवश्यकता है ना की पैसों के पीछे दौड़ लगाने की ,मशहूर वैज्ञानिक आइंस्टाइन हमेशा अपने विचारों के लिए अलग से समय निकालते थे और वह जो भी सोचते थे उस पर कार्य जरूर करते थें ।

Mastery Book summary in Hindi

इसलिए दोस्तों कभी भी ट्रेनिंग के दौरान सिख गए स्किल को अच्छे ढंग से करने का कोशिश करें ना की पैसों के पीछे भागते रहने की ।

Keep expanding your horizons: नए लोगों से मुलाकात करें और जाने की वे कैसे आगे बढ़ते जा रहे हैं ?अपनी नॉलेज को बढ़ाने के लिए हमेशा नए लोगों से मुलाकात करते रहना चाहिए ताकि आप नई विचार अपने जीवन में प्रवेश कर पाएं ।Read also 👇👇

Exploring The World Of Lucid Dreaming

Classic Guide to Intelligent Reading :How to Read a Book in HindiTrust the process:जब इंसान सोचता है कि मैंने अभी ट्रेनिंग कर ली है और मैं सफल व्यक्ति बन गया हूं तो यह उसकी गलतफहमी होती है क्योंकि कोई भी कार्य में कुशलता हासिल करने के लिए समय लगता है इसलिए असफल होने पर भी निराश ना हो ,कार्य करते रहने से ही आप एक कुशल व्यक्ति बन पाएंगे ।

Move toward resistance and pain: एक Skill सीखने के बाद ठहराव अपने जीवन में ना ले आए ।ऐसा होता है कि जब व्यक्ति एक काम में माहिर हो जाता है तो वह कार्य करते ही रहता है क्योंकि वह कार्य उसके लिए आसान हो जाता है आपको ऐसा करने से बचना है ।

नए कार्य सीखते रहना चाहिए ताकि आप अपनी लिमिट्स को पार कर पाए और अपने जीवन में अनगिनत कार्य सीख सके ।

Apprentice yourself in failure:

जब किसी मशीन का पुर्जा खराब होता है तो हम समझ जाते हैं कि किसी पुर्जे में खराबी है और उसे कैसे ठीक करना है ।

वैसे ही दोस्तों हमारे जीवन में होता है जब हम फैलियर फेस करते हैं तो हम समझ आ जाता है कि हमारी किस गलती के कारण हमें फेलियर का चेहरा देखने को मिला है ?

फेलियर को देखकर घबराकर ठहरना नहीं है बल्कि अपनी गलती को समझते हुए हमें आगे बढ़ाना है और सफल बना है

Combine the “how” and the “what”:

अक्सर ऐसा होता है कि इंसान कुछ स्किल सीखने की हिम्मत जुटाता है लेकिन उस कार्य को अधूरा ही छोड़ देता है ।कोई भी कार्य जब आप अधूरा सीखते हैं तो आप उसमें कुशलता नहीं ला पाते इसलिए कोई भी कार्य को पूरा सीखें ताकि आप उसका बेनिफिट ले पाएं । सीखने के बाद उस कार्य को अपने जीवन में करना जरूर शुरू करें ताकि आप उसे भूल ना ।

Advance through trial and error:

🌹20 से 25 साल की उम्र के लोगों को हमेशा अपने Skill को बढ़ाते रहना चाहिए ।जब इंसान अपने Skill को डेवलप करते रहता है तो वह एक ही स्किल का महोताज नहीं रहता बल्कि समय आने पर अपने अन्य स्किल का इस्तेमाल करके प्रॉफिट कमा सकता है ।अलग-अलग Skill सीखने से इंसान कभी भी अपनी जिंदगी से बोरियत महसूस नहीं करता और पैसा कमाता रहता है ।

3) Absorb the Master’s Power:

जानते सब है कि एक अच्छा गुरु अगर शिष्य को मिल जाएं तो उसे आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता ।अच्छे गुरु को मालूम होता है कि कौन सी चुनौतियां अपने शिष्य को देने से वह आगे बढ़ सकता है इसलिए अच्छे गुरु का चुनाव करें ।

Must Buy these books 📚 📚

The Concise Mastery (The Robert Greene Collection) + The Laws of Human Nature

यदि आपको अपने सामने कोई अच्छा गुरु नहीं नजर आ रहा है तो किताबों का सहारा लेकर अपने आप को रोजाना आगे बढ़ने का प्रयत्न करे ।

अनुभवी व्यक्ति और किताबें ही एक इंसान को आगे बढ़ा सकती है इसलिए इनका साथ ना छोड़े और आगे बढ़ने का प्रयास करते रहे ।

Strategies for Deepening the Mentor Dynamic

अपनी आवश्यकताओं और रुचि के अनुसार एक मार्गदर्शक चुनें:

एक सही मार्गदर्शक ही इंसान को सही राय दे सकता है । ऐसे गुरु का चुनाव आपको करना है जो आपके अंदर आत्मविश्वास जगाएं और सही चीजों का चुनाव करना सिखाएं ।

सही गुरु का चुनाव करे :

सही गुरु ही अपने शिष्य को बताते हैं कि उन्हें कौन से क्षेत्र में मेहनत करने की आवश्यकता है । अपनी आलोचना सुनने के लिए तैयार रहें क्योंकि जब आप आलोचना सुनने के बाद उसमें सुधार लाएंगे तभी आप प्रगति की ओर बढ़ पाएंगे ।

Create a back and forth dynamic:

ध्यान से सोच और अपने गुरु को बताएं कि आप किस कार्य में मास्टरी करना चाहते हैं तभी आपका गुरु सही रास्ते का चुनाव करते हुए आपको आगे बढ़ा सकता है ।

4) See People as they Are: रॉबर्ट जी का कहना है कि दो तरह की नॉलेज इंसान के अंदर होनी चाहिए ।

1.Specific knowledge

2 .General knowledge

नॉलेज इसलिए जरूरी है क्योंकि उनके बारे में जानने से आपको उनके पॉजिटिव और नेगेटिव दोनों भावनाओं के बारे में पता चलेगा और लोगों को जज करने में आसानी होगी ।

💞सामाजिक बुद्धिमत्ता प्राप्त करने की रणनीतियाँ – (Strategies for Acquiring Social Intelligence )

Speak through your work: अपनी छवि अन्य लोगों से भिन्न बनाना चाहते हैं तो अपने कार्य में ज्यादा ध्यान दें क्योंकि अक्सर लोग बोलते ज्यादा है और कार्य काम करते हैं । अगर आप अपने काम में को बेहतर ढंग से करेंगे तो आप अन्य लोगों से अलग दिखेंगे ।

See yourself as others see you: ऐसा होता है कि लगभग हर इंसान दूसरे इंसान में कमियां देखा है यदि आप खुद ही दूसरा इंसान कुछ पल के लिए बन जाए फिर आप खुद ही जान जाएंगे कि आपके अंदर कौन-कौन सी कमियां है ।

यकीन मानिए दोस्तों आप जल्द ही उन कमियों को दूर कर सकते हैं इसलिए second Person बनाकर खुद के अंदर झांकें और समझे कि आपको क्या-क्या बदलाव लाने है ।

Suffer fools gladly: हर इंसान के अंदर थोड़ा बहुत बचकानी हरकत करने का स्वभाव होता है । यदि आप अपने अंदर की बचकानी हरकतों को देखेंगे तो समझेंगे कि दूसरों की बचकानी हरकतों पर ज्यादा गुस्सा करने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि अक्सर इंसान मूर्खता वाला व्यवहार करते समय अपना आपा खो बैठता है इसलिए जब भी आपके सामने कोई मूर्खता वाला व्यवहार करें तो ज्यादा गुस्सा होने की भूल न करें ।

5) Awaken the Dimensional Mind: The Creative-Active

अपने दिमाग को और ज्यादा सक्रिय करने का सिर्फ एक ही तरीका है कि अपने कार्य क्षेत्र में जो आप कार्य सीख रहे हैं उसे ज्यादा से ज्यादा सीखते रहे ।

ऐसे में आपका सबकॉन्शियस माइंड पहले से सक्रिय हो जाएगा और जब भी उसे जरूरत पड़ेगी आपके द्वारा उस ज्ञान का उपयोग किया जाएगा ।

Step One: The Creative Task

दोस्तों जिस कार्य को आप करना चाहते हैं उस पर अपना ऊर्जा और ध्यान लगाने से आप उस कार्य को आसानी से कर पाएंगे इसलिए यह आप निर्भर करता है कि आप अपनी ऊर्जा और ध्यान कहां केंद्रित कर रहे हैं ? सही जगह लगाने से आपको रिजल्ट बेहतर मिलेंगे ।

💞💞Step Two: Creative Strategies

Cultivate Negative Capability –

अक्सर ऐसा होता है जब इंसान कार्य करने की शुरुआत करता है तो उसे समस्याओं का सामना करना पड़ता है इसलिए कार्य की शुरुआत के दौरान ही आप अपना माइंडसेट सही रख ले की समस्याओं का आना तय है इसलिए घबराने की आवश्यकता नहीं है बल्कि समय-समय पर उपाय तैयार रखने की आवश्यकता होती है ।

Allow for Serendipity:

नए विचारों को विकसित करें और कभी भी गुस्से में कोई बात का हल न निकले ,अपने साथ एक नोटबुक रखें जिसमें आप अपनी नई विचारों को लिख सकें ताकि आपको समझ जाएं कि आपको कौन सी विचार ज्यादा रोक रहे है ।

Alter Your Perspective:

कई बार नजरिया बदलने से भी इंसान को समस्या का हाल मिल जाता है इसलिए कभी भी कोई समस्या आपके सामने आए तो आप अलग-अलग नजरिए अपनाने का प्रयास करें ताकि आप अपने समस्याओं का समाधान खुद निकल पाए ।

आदिम बुद्धि की ओर लौटें (Revert to Primal Intelligence ): जरूरी नहीं है कि कोई चीज समझने के लिए सिर्फ भाषा का ही प्रयोग किया जाए ।आप विजुअल लैंग्वेज या मॉडल का इस्तेमाल करके भी चीजों को अच्छे से बयां कर सकते हैं इसलिए इनका उपयोग करें ।

Step Three: The Creative Breakthrough — Tension and Insight

कभी भी आपके सामने तनाव की स्थिति उत्पन्न हो तो कुछ समय का ब्रेक ले ,ऐसा करने से आपका तनाव कम होगा और अपना काम सही से कर पाएंगे ।

दोस्तों एक बात का ध्यान रखें कभी भी यह सोचकर कार्य न छोड़ दे कि हमारे पास बहुत समय है ।

ऐसा करने से हमारे दिमाग में एक गहरा प्रभाव छोड़ता है जिसके कारण हम अपना काम अच्छे से नहीं कर पाते हैं ।जब आप एक समय निर्धारित कर लेते हैं तो आपका दिमाग पूरी कोशिश करता है की डेट टाइम से पहले अपना काम समाप्त किया जाए , ऐसा करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा ।

💞💞Strategies for the Creative-Active Phase

  • जो व्यक्ति अपने कार्य में समय देता है वहां उस कार्य में मास्टरी भी हासिल कर लेता है ।
  • एक ही कार्य में अपना नाम बनाना है तो अलग-अलग कार्य में प्रवेश होने से अच्छा है कि एक कार्य को ही इतने अच्छे से किया जाए कि उसमें आप मास्टरी हासिल कर ले ,उसमें आपको टक्कर देने वाला कोई ना हो ।
  • आपकी काबिलियत ही आपको सफलता की ओर लेकर जाएगी ।
  • कुशलता हासिल करने के लिए अपने कार्य क्षेत्र में पूरा ध्यान दें और धैर्य बनाए रखें ।
  • जिस इंसान ने मास्टरी हासिल कर ली होती है उसकी तरफ लोगों का आकर्षण बढ़ता रहता है इसलिए अपने कार्य क्षेत्र में खुद को एक ऐसी पोजीशन में रखें जहां हर कोई आपकी ओर आकर्षित हो ।
  •  आपका कार्य हमेशा प्रेरणादायक होना चाहिए ताकि लोगों पर आपका प्रभाव पड़े ।
  •  कभी भी कार्य में जल्दबाजी न करें ,अपने आइडिया के बारे में हर प्रकार से सोचे ताकि आप अपने काम से जुड़े हर एक रहस्य को अच्छे से समझ पाएं ।

6) Fuse the Intuitive with the Rational: ( Mastery )

अक्सर ऐसा होता है कि इंसान अपने अंतर्ज्ञान पर ज्यादा ध्यान नहीं देता है ,जिसकी वजह से वह पीछे रह जाता है लेकिन अगर आप अपने ideas पर ध्यान देंगे और‌ कार्य करते रहेंगे तो आप अपने कार्य में मास्टरी भी हासिल कर लेंगे ।

💞💞Strategies for Attaining Mastery:

Connect to your environment — अपने वातावरण यानी कार्यस्थल के साथ इतनी गहराई के साथ जुड़ जाए जैसे कि वह जगह सर्वउत्तम है । ऐसा करने से आप अपने कार्य से जुड़े रहेंगे और उसमें मास्टरी हासिल कर लेंगे ।

Play to your strengths — Supreme Focus: दोस्तों जैसे हम स्विमिंग करने की सोच रहे हैं तो अगर हम बहाव के विपरीत तैरें तो भी अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकते या हम खुद ही प्रतिरोध करें तो भी आगे नहीं बढ़ सकते इसलिए अपनी खूबियों को पहचानने और आगे बढ़ना सीखें ।

Transform yourself through practice — हर इंसान को कार्य तभी कठिन लगता है जब उसने अधिक प्रेक्टिस नहीं की होती है । अगर आपको मास्टरी हासिल करनी है तो कार्य छोटे से छोटा हो या बड़े से बड़ा उसमें मास्टरी हासिल करने के लिए अभ्यास करना बेहद जरूरी है ।

Widen your vision:दोस्तों कोई भी कॉम्पिटेटिव माहौल में दो प्रकार के लोग होते हैं । एक वह जो जीते हैं और दूसरे वह जो हारते हैं यह सबसे बड़ा फर्क है नजरिए का , यदि आपका नजर सही होगा तो आप हर परिस्थिति में अपने आप को आगे बढ़ाने की सोच रखेंगे इसलिए अपनी सोच पर ध्यान जरूर रखें ।

Submit to other :अक्सर इंसान दूसरों के नजरिए को नजर अंदाज करता है लेकिन ऐसा करना भी कुछ हद तक गलत है ।आपको देखना है कि अगर इसका नजरिया सही है तो क्यों है और गलत है तो क्यों है ।

अगर आपको लगता है कि इनका नजरिया सही है तो उस पर वर्क करके अपने अंदर इंप्रूवमेंट लाने का प्रयास करना चाहिए ।

Conclusion : (Mastery Book summary in Hindi )

जैसे कि हमने वादा किया है कि इस लेख “Mastery Book summary in Hindi ” के अंत में इस किताब के महत्वपूर्ण बिंदु को संक्षिप्त में बता देंगे तो चलिए जानते हैं कि इस किताब के महत्वपूर्ण बातें क्या है ?

1.आपको अपने लक्ष्य की स्पष्टता होनी चाहिए ।

2 .एक समय में आप एक ही Skill सीखने का प्रयास करें अन्यथा आप कोई भी skill अच्छे तरीके से नहीं सीख पाएंगे ।

3 .सही गुरु का चुनाव करें ताकि वह आपको आपके लक्ष्य की ओर पहचाने में आपकी मदद कर पाएं ।

4 . दूसरों से अपनी तुलना ना करें क्योंकि ऐसे करने से आप अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने के बजाय रुक जाते हैं और अपने जिंदगी को कोसने लगते हैं ।

उम्मीद है आपको यह लेख “Mastery Book summary in Hindi “की जानकारी पसंद आई होगी और आप समझ गए होंगे कि मास्टरी हासिल करने के क्या क्या फायदे हैं और आप कैसे Mastery हासिल कर सकते हैं ।

जानकारी पसंद आई हो तो इस लेख को share करना न भूले 🙏😊💞💞

Related Posts

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram