The Gift oF Imperfection book summary in Hindi

The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi

The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi

😊 नाम सुनकर आपको आश्चर्य जरूर होगा लेकिन यकीन मानिए दोस्तों इस The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi की महत्वपूर्ण बाते आपके जीवन में बदलाव ला सकती हैं ।

The Gift oF Imperfection      book मे बताया गया है  कि कमियों ने हमें बहुत सारे उपहार दिए हैं ।

हर कोई Perfect life, Perfect job, Perfect Lifepartner, चाहता है पर जब उसे perfect नही मिलता तो वह उदास हो जाता है ।लेखक ने बताया The Gift oF Imperfection book में कि हमारी कमियो ने हमे बहुत उपहार दिए है ।

The audio autoplay attribute

Click on the play button to play a sound:

 

जैसे कि वास्तविकता में रहना, शांत रहना, comparison न करना, और करूणा को जन्म दिया है । इन सब के कारण मनुष्य अपनी Life को अच्छे से जी सकता है ।

इन उपहारों को महसूस करने के लिए आपको अपने अंदर कुछ qualities को विकसित करना पड़ेगा ।

10 qualities जो आपकी value को   increase करता है ( The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi )

The Gift oF Imperfection book summary in Hindi

 

*AUTHENTICITY

उन qualities में से एक AUTHENTICITY है । मतलब जो आप हैं वही दूसरे को दिखाना ।

हम में से कई लोग ऐसे हैं जो सोचते हैं कि हमें AUTHENTICITY जन्म से उपहार के रूप में मिली है जबकि ऐसी बात नहीं है । इसे हम अभ्यास के जरिए अपने जीवन में ला सकते हैं ।

what is ‘AUTHENTICITY’

हम अपनी जिंदगी कैसे जीना चाहते हैं वहां हमारी choice पर निर्भर है इसे ही AUTHENTICITY कहते हैं ।

हर एक के पास strength होती है किसकी की आवाज अच्छी है तो कोई रटने मे अच्छा है । आप जिस field में अच्छे है आप उसमे आगे बढ़े न कि लोग को impress करने के चक्कर में अपना रास्ता बदले ।आप भी अपनी जिंदगी में खुशियां चाहते हैं तो AUTHENTICITY से नाता जोड़े।

अब मन में सवाल आ रहा होगा कि इसको विकसित कैसे किया जाता है ? इसके लिए आप जो बनना चाहते थे और बन नहीं पाऐ उस पर अफसोस करना छोड़ना होगा ।

  •   आपको सीखना होगा कि हर पल को enjoy कैसे किया जाता है । इसके लिए आपको कई अन्य बातों का भी ध्यान रखना होगा जैसे कि अपने आपको पहचाने और दूसरों के सामने झूठा चेहरा लाना बंद करें ।
  • अपनी जिंदगी में अपने प्रति दया भावना रखें ।आपको सफलता और असफलता दोनों में ही खुशी मनाना चाहिए ।
  •    यह पॉइंट से भी आप अपने अंदर AUTHENTICITY को विकसित कर सकते हैं । आपको अपने आप से और औरों से connection जोड़ना होगा । इसे भी आपके अंदर AUTHENTICITY विकसित होगी ।

कई बार ऐसा होता है ना कि हम बनना तो कुछ चाहते हैं पर लोगों की सुनकर अपना रास्ता बदल देते हैं । लेखक ने कहा है कि   ” Be authentic ” अपनी असली छवि ही लोगों के सामने लेकर आए ।

बताए गए पॉइंट से आपको “AUTHENTICITY” विकसित करने में मदद मिलेगी पर फिर भी आपको एक बात याद रखनी है जब भी आपके सामने मुश्किल समय आए और आप बेसहारा महसूस कर रहे हो तब आपको अपने आप से थोड़ा और प्यार करना है ।

जिससे हम अपने goal को achieve कर सकते हैं और रुकावट को दूर भगा सकते हैं ।

ANNA QUINDLEN’ जो कि एक अमेरिकन लेखक हैं वह कहती हैं कि PERFECTIONISM के पीछे भागना छोड़ दो ।

Perfection is an illusion

जीवन में सबसे कठिन कार्य क्या है ?

उत्तर – कठिन कार्य अपने आप को कहने से रोकना कि हम perfect है । पूरी जिंदगी में हम सिर्फ लोगों को यहां दिखाते रहते हैं कि हम परफेक्ट है । अपने आप को perfect मान लेना कि हमारे अंदर कोई कमी नहीं है ।

यहां बात आपको आगे नहीं बढ़ने देगी इसलिए PERFECTIONISM के पीछे नहीं भागना चाहिए ।

हम जीवन में याद रखना चाहिए खुशियों का दरवाजा आपकी उन्नति की से ही होकर गुजरेगा । कुछ लोग तो ऐसे हैं कि वह अपने आप को परफेक्ट मानते हैं इसलिए वहां अपनी उन्नति की ओर कभी ध्यान ही नहीं देते ।

The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi

The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi

PERFECTIONISM एक बीमारी है । जिस व्यक्ति को पकड़ लेती है वहां अपने reality से अनजान रखता है । इसीलिए हमें PERFECTIONISM के जाल से अपने आप को दूर रखना चाहिए ।

Perfectionism की जगह SELF COMPASSION अपने अंदर लाएं ।

*Self compassion

जिससे आप अपने प्रति ओर दयालु हो पाएंगे और समझ पाएंगे कि आपको अपनी कमियों की तरफ ध्यान देकर उन कमियों को दूर करना है ।

CHRISTOPHER K. GERMER ने कहा है कि जिस दिन आप self-compassion (करुणा ) अपने अंदर लाते हैं उसी दौरान आप अपने जीवन में changes लाना शुरू कर देते हैं |

हमें मालूम होना चाहिए कि हमारी कमियों ने हमें एक उपहार दिया है जिसका नाम है Self Compassion है ।  जीवन में खुशियां लाने के लिए हमें Self-Compassion करना सीखना होगा |

SELF COMPASSION सीखना चाहिए ना की PERFECTIONISM  ‌। जब आप अपने प्रति अच्छे से व्यवहार करेंगे तो आप दुनिया को भी बेहतर बनाएंगे ।

आप perfect किसे कहते है ?

एक व्यक्ति आपके सामने है जो millionaire है ।वहां अपने आप को परफेक्ट मानता है पर जैसे ही वह बिल गेट्स या अन्य प्रसिद्ध व्यक्ति को देखेगा तो फिर अपने आप को imperfect समझेगा इसलिए लेखक ने कहा है कि अपनी वर्तमान स्थिति में हमें खुश रहना चाहिए और प्रगति की ओर बढ़ने के लिए हमें कमियों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए ।

लेखक का कहना है कि आपको अपनी तुलना करनी ही है तो जो आप कल थे और जो आज आप हैं तुलना करनी है तो इसमें कीजिए ।

अगर आप भूतकाल से बहेतर जिंदगी वर्तमान में जी रहे हैं तो आप उन्नति कर रहे हैं ।

CHAPTER-3

*CULTIVATING A RESILIENT SPIRIT 

तीसरी क्वालिटी आपको अपने अंदर लानी है वह है RESILIENT

behavior इसका मतलब है flexibility । इस quality से आप मुश्किल दौर का भी सामना करना सीख जाएंगे । बहुत सारे रिसर्च में साइकोलॉजिस्ट को पता लगा है कि जो लोग RESILIENT Spirit वाले है वे stress,

depression, and trauma से दूर रहते हैं और जिन लोगों के पास यह क्वालिटी नहीं है वहां आत्महत्या करने की कोशिश करते हैं या तो बीमारियों में फंस जाते हैं ।

Resilient spirit जिनके पास होता है वहां मुश्किल समय में भी सकारात्मक सोच रखते हैं । यही एक कारण है जो उन्हें अंदर से मजबूत बनाकर रखता है ।

अगर आप भी अपने जीवन में खुशियां चाहते हैं तो RESILIENT SPIRIT विकसित करें ।

अब मन मे सवाल आ रहा होगा जो लोग RESILIENT SPIRIT के होते है वे कैसे होते हैं ?

उत्तर – प्रॉब्लम को solve करने में यकीन रखते हैं और मदद लेने से कभी भी शर्मिंदगी महसूस नहीं करते हैं ।वह मानते हैं कि वह अपने जीवन में अच्छा कार्य कर रहे हैं ।

लोगों से जुड़ा रहना पसंद कहते हैं और हमेशा परिवार और दोस्तों की मदद के लिए तैयार रहते हैं ।

बताई गई बातों को आप ध्यान में रखें और अपने अंदर इस क्वालिटी को विकसित करें ।

CHAPTER-4

* Gratitude and Joy

अगर आप अपनी जिंदगी में खुश रहना चाहते हैं तो कृतज्ञता और आनंद आपके अंदर होना ही चाहिए ।

कृतज्ञता और आनंद human emotions हैं यह आपस में एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं । इन्हें अपने अंदर विकसित करने से आपके जींदगी में खुशियां आएंगी ।

Gratitude क्या है ?

यह एक गुण है जिसे आप अपने अंदर विकसित कर सकते हैं । इसे विकसित करने के बाद आपके अंदर इंसानों और चीजों के प्रति दया भावना आ जाएगी ।

जिस पेड़ में फल लगे होते हैं वहां पेड़ चुका होता है इसका मतलब स्पष्ट है कि जो व्यक्ति के पास अनमोल गुण होते हैं वह हमेशा नर्म दिल का होता है उसके अंदर Gratitude (कृतज्ञता ) की भावना होती है ।

Joy क्या है ?

खुशियां का माहौल हर के नसीब में नहीं होता पर खुश रहना काफी हद तक हमारे हाथ में होता है ।

Joy and Happiness दोनो अलग चीजें हैं । आपने कई प्रसिद्ध व्यक्तियों से सुना होगा कि वह कहते हैं कि grateful and Joyful रहते हैं ।इसका मतलब यह नहीं है कि वह 24 घंटा खुश रहते हैं ।

जो आत्मा उम्मीद और खुशियों से भरी रहती है उसे Joy कहते है ।इसलिए अपनी जिंदगी में कृतज्ञता और खुशी को जोड़ें |

chapter – 5

* Intuiton and trusting  faith (अंतर्ज्ञान विकसित करना और विश्वास पर भरोसा करना )

विज्ञानिको का मानना है कि अंतर्ज्ञान एक तर्क प्रक्रिया नहीं है ।एक मानसिक पहेली की तरह है ।इसमें मानव मस्तिष्क खुद को स्कैन करता है । उसके बाद बताई गई जानकारी के मुताबिक अनुमान लगाता है । कुछ लोग इसे Gut feeling के नाम से जानते हैं ।

इसे अंतर्ज्ञान भी कहा जाता है ।आपका अंतर्ज्ञान कई बार बताएगा कि जीवन में क्या करना चाहिए आपको इस पर भरोसा करना चाहिए । इसकी मदद से आप अपने जीवन में खुशियां ला सकते हैं ।

faith ऐसी चीज है जिसकी मदद से आप उन बातों पर यकीन कर सकते हैं जो आपने सुनी नहीं है । faith के कारण ही हम लोगों के नजदीक आ सकते हैं ।

जिम्मेदारियां ,रिश्ते विश्वास के कारण ही जोड़ पा रहे हैं । इसे विकसित करने से हमारी जिंदगी में खुशियां आएंगी ।

आपको विश्वास रखना है कि आप अच्छे हैं ।यह विश्वास को बनाए रखने के लिए आप ईश्वर के सामने कह सकते हैं कि भगवान मुझे खुद को स्वीकार करने की शक्ति दीजिए ।जो मैं कर सकता हूं उसके लिए मुझे शक्ति दीजिए ।

chapter -6

* creativity (रचनात्मकता ) –

रचनात्मकता होना अच्छी बात है । आपने सुना होगा कि देखो कि वह व्यक्ति कितना रचनात्मक है |कोई भी इंसान जन्म से ही रचनात्मक नहीं होता है ।दो प्रकार के लोग होते हैं पहला रचनात्मक और दूसरा जो दूसरे प्रकार के व्यक्ति होते हैं वहां अपने creativity इस्तेमाल नहीं करते हैं इसी कारण वे भय और दुख में फंसे रहते हैं ।

बहुत से लोग रचनात्मक और गैर रचनात्मक के बारे में बातें करते हैं । किसी ने आपको कह दिया कि आप रचनात्मक नहीं है तो कुछ लोग मान भी लेते हैं ।आज मैं आपका सब भ्रम तोडूंगी कोई भी इंसान रचनात्मक पैदा नहीं होता है ।

पर वह सिर्फ अभ्यास से रचनात्मकता अपने जीवन में ला सकता है । जीवन मे खुशियां लानी है तो आपको रचनात्मकता को अपने जीवन में लाना ही होगा । यह करने से आप अपने जीवन में और संसार में खुशियां बांट सकते हैं ।

यह एक power है जिसके जरिए आप लोगों के मस्तिष्क को एक दूसरे से जुड़ सकते हैं और इसकी सहायता से अपनी society में खुशियां ला सकते हैं ।

chapter -7

*CULTIVATING PLAY AND REST (खेलने और आराम )-

रिसर्च में पता किया गया जो लोग खुले दिल से अपनी जिंदगी जीते हैं उनमें ऐसा अलग क्या है जो शोधकर्ता भी हैरान रह गई ?

जो इंसान खुले दिल से बच्चों की तरह खेलता है और आराम करता है । उसका दिमाग अच्छे से कार्य करता है और वे अपनी जिंदगी में हमेशा खुश रहते हैं ।

शोध से पता चला है कि जो लोग खेलते हैं और आराम करते हैं उनका मस्तिष्क अन्य लोगों के मुकाबले अच्छा कार्य करता है ।खेलने और आराम करने से काफी फायदे हमें मिलते हैं इससे रचनात्मकता भी बढ़ती है ।

खेल को हमेशा purposeless खेलना चाहिए ऐसा करने से आपकी जिंदगी में काफी परिवर्तन आएगा । कुछ लोग ऐसे है जो खेल और अराम को समय की बर्बादी मानते हैं पर ऐसा नहीं है ।

आराम और खेल अपने जीवन का हिस्सा बना लें ।ऐसा करने से आप तंदुरुस्त रहेंगे और मानसिक रोगों से दूर भी रहेंगे ।

CHAPTER-8

*CULTIVATING CALMNESS AND STILLNESS ( शांति और स्थिरता )

शांति और स्थिरता को अपने अंदर संतुलित करने से आपकी लाइफ में ओर खुशियां आ सकती है इसे विकसित करने के लिए आपको कुछ बातें याद रखनी चाहिए ।

शांति आपकी brain की इमोशंस को कंट्रोल करता है । जो लोग calm होते है वह मुश्किल समय में भी अपना नियंत्रण नहीं होते । कोई भी परिस्थिति में उन्हें अपने माइंड को relax रखना आता है ।

रिसर्च के अनुसार जो मनुष्य  अपने मुश्किल समय में भी हार नहीं मानता है और अपने कार्य में एकाग्रता रखता है ।जिसके कारण वह अपने क्षेत्र में सक्सेसफुल व्यक्ति बन जाते हैं ।

Stillness

– जितना ज्यादा आप इसका उपयोग करेंगे उतना आप के लिए बेहतर है ।आपके Personality मे Patience होना बेहद जरूरी है । यही कारण है कि जिन लोगों के पास यह क्वालिटी है वहां जो चाहते हैं उसे पा लेते हैं ।

जिन लोगो के पास यह क्वालिटी होती है वहां हृदय से खुश रहते हैं । उन्होंने अपने माइंड में एक जगह बनाई हुई है जिसके कारण वहां बुरे से बुरे हालातों से लड़ लेते हैं ।

इन्हे पता है कि कोई भी हालात से लड़ने के लिए समय लग सकता है और यह दोनों क्वालिटी अपने अंदर लाने के लिए कुछ समय लगेगा इसलिए आपको धैर्य रखना होगा ।

The Gift of Imperfection

The Gift of Imperfection by brene brown

The Gift of Imperfection book summary in Hindi

The Gift of Imperfection book

CHAPTER-9

*CULTIVATING MEANINGFUL WORK (सार्थक कार्य )

हम कैसे सोचते हैं ?कैसे हम समझते हैं ?और कैसे हम कार्य करते हैं इन सब का एक अंदरूनी connection होता है ।बहुत महत्वपूर्ण है कि जो हमारी choice है वहा best हो ।

खुशियों के रास्ते पहुंचने के लिए बेहद महात्वपूर्ण है MEANINGFUL

WORK अपने लिए ढूंढना ।

यहां कार्य आप ही को करना होगा क्योंकि कोई नहीं बता सकता कि आपके लिए Meaningful कार्य कौन सा है ।केवल दो Point समझने के बाद आप easily अपने लिए निर्णय ले सकते हैं ।

1. Self-Doubt

हम सब जानते है दुनिया में ताने मारने के लिए बहुत सारे लोग हैं । आप कोई कार्य शुरू करेंगे तो ऐसे बहुत से लोग आपको रास्ते में मिलेंगे जो नकारात्मक सोच रखते हैं ।उस समय आपको अपने अन्दर Self doubt नहीं लाना है ।

उस समय आपको एक ही कार्य करना है अपने आप से सवाल कीजिए कि सामने वाला व्यक्ति आपको ऐसा क्यों कह रहा है ?

अगर उसकी बात में दम है जो आपको उन्नति की ओर ले जा सकता है तो जरूर ध्यान दीजिए अन्यथा बहरे बन जाए ।

2. Be honest to yourself –

meaningful work करते समय अपने साथ ईमानदार रहें ।

आपको अपने साथ झूठ नहीं बोलना है । पूछे अपने आपसे कि आप कौन सा काम आप कर रहे हैं ?आप यहां कार्य क्यों कर रहे हैं ?इस कार्य में आपका greed है तो आप आने वाले समय में इसके भुगतान के लिए तैयार रहिए |

ऐसे सवाल पूछने से आप यह नहीं सोचेंगे कि दुनिया मेरे बारे में क्या सोचती है बल्कि आपको यह सोचना है कि आपकी खुद की खुद से क्या expectation है ?

खुद से कुछ सवाल करें ऐसे करने से आप खुद की नजरों में तो बेहतर बनते ही हैं ।साथ ही साथ लोग भी आपकी ईमानदारी की तारीफ करने लग जाते हैं ।आपको खुद ही महसूस होने लग जाएगा कि आप जीवित हैं ।कार्य खोजने के बाद आपको समझ आ जाएगा कि यह कार्य MEANINGFUL WORK है ।

CHAPTER-10

*CULTIVATING LAUGHTER, SONG AND DANCE 

MARK TWAIN ने कहा है कि ऐसे नाचो जैसे कि आपको कोई नहीं देख रहा हो, ऐसे singing करो जैसे कि आपको कोई नहीं सुन रहा हो ,जिंदगी ऐसे जियो जैसे कि स्वर्ग में जी रहे हो ।

medical research क्या कहती है ?इस पर भी हम नजर डालते हैं

जो लोग LAUGHTER, SONG and DANCE को ignore है उनके दिमाग में बुरा असर होता है जिसके कारण वह बुरा महसूस करना शुरू कर देते हैं |

इसके लम्बे समय तक चले रहे प्रभाव आपको दुखी रख सकते है और आप mental illness के शिकार हो सकते हैं ।

LAUGHTER, SONG and DANCE इसके महात्व को समझने के लिए हमें पूछना चाहिए कि LAUGHTER, SONG and DANCE हमारे लिए क्यों जरूरी है ?

Psychological researchके दौरान पता चला है कि Laughter, song and dance emotional and spiritual कनेक्शन हमारे brain के साथ जोड़ता है ।इसी के कारण brain nerve शांत रहती हैं ।

अगर आप अपनी जिंदगी में peace, healing, happinessलाना चाहते हैं तो आपको

Laughter, song and dance

की मदद लेनी होगी । ऐसा करने से आपकी जिंदगी में खुशियां आ जाएंगी ।

  • The Gift oF Imperfection book summary in Hindi

निष्कर्ष

 संक्षिप्त में समझे THE GIFTS OF IMPERFECTION”  book summary in Hindi

आपको इस किताब में लिखी गई महत्वपूर्ण बातें फिर से संक्षिप्त में दोहरा रही हूं जिसे अच्छे से समझने के बाद”THE GIFTS OF IMPERFECTION”  book summary in Hindi की महात्वपूूर्ण बाते आपको समझ आ जाएगी ।

  • यह केवल आपकी जिम्मेदारी है कि अपनी पंसद का कार्य चुने ।
  • अपने प्रति ईमानदार रहें और सोचे कि जो कार्य आप कर रहे हैं वह सही है कि नहीं ।
  • अपने आपसे झूठ ना बोले । ऐसे करने से आपकी नजर में खुद की वैल्यू इनक्रीस होगी और लोगों से भी तारीफ पाएंगे |
  • self doubt न करे ।अपने दिमाग की गलत छवि को खुद से दूर भगाएं और कहे कि मैं कर सकता हूं ।
  • Laughter, song and dance अनदेखा ना करें | ऐसे करने से आपकी जिंदगी में खुशियां बढ़ती हैं ।
  • लोगों को Impress करना छोड़ दें । अपने आपको को स्वीकार करे

IMPERFECTION आपको कई उपहार दिए हैं इन्हें पहचाने और अपनी जिंदगी खुशी से बताएं ।

आशा करती हूं कि इस लेख से जिसका Title है

THE GIFTS OF IMPERFECTION” BOOK summary in hindi से काफी कुछ सीखने को मिला होगा । life changing लेख आपके लिए लाती रहूंगी ।अपना ध्यान रखें और आगे बढ़ते रहें ।
https://youtu.be/miQ3X7QDgr8

अपना महत्वपूर्ण समय देने के लिए धन्यवाद ..अगर आप को जरा सा भी इस लेख से फायदा मिला है तो हमारे साथ जुड़ना ना भूलें ।😊🙏

Also read 👇👇

The subtle art of not giving a f*ck in

Why “A” Students Work For “C” Students book Summary in Hindi

Unfu*k Yourself Book Summary In Hindi | Gary John Bishop | “सोच” जो आपके दिमाग को सड़ा रही है ।

Related Posts

2 thoughts on “The Gift oF Imperfection book Summary in Hindi

  1. Thanks for one marvelous posting! I enjoyed reading it; you are a great author.I will make sure to bookmark your blog and may come back someday. I want to encourage that you continue your great posts, have a nice weekend!

Comments are closed.

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram