( 2023 Emotions control karna sikhe /Master Your Emotions Book Summary in Hindi)

2023 Emotions control karna sikhe /Master Your Emotions Book Summary in Hindi

जिसको Emotions को कंट्रोल करना आता है वह अपने जीवन में कुछ भी प्राप्त कर सकता है। नकारात्मक विचारों को अपने आप से दूर करके सकारात्मक विचार हम अपने अंदर कैसे ला सकते हैं ? इस लेख के जरिए (2023 Emotions control karna sikhe/ Master Your Emotions Book Summary in Hindi)आज आप जानेंगे ।

हम सबके साथ ऐसा होता है कि emotional होकर हम निर्णय ले लेते हैं फिर बाद में पछताते हैं कि काश मैंने वह निर्णय emotional होकर नहीं लिया होता ।

यदि आप भी उनमें से एक है जो emotions को काबू नहीं कर पाते हैं तो आज इस बुक के author Thibaut Meurisse का कहना है की emotions कैसे काबू करते हैं ? यह आपको इस लेख( 2023 Emotions control karna sikhe /Master Your Emotions Book Summary in Hindi) के जरिए समझ में आ जाएगा ।

( 2023 Emotions control karna sikhe /Master Your Emotions Book Summary in Hindi)

एक कामयाब इंसान जानता है कि इमोशंस का महत्व क्या होता है ? इसलिए वह अपने विचारों में हमेशा सकारात्मक सोच प्रवेश करता रहता है ।

इमोशंस को काबू करना क्यों जरूरी है? [ Master Your Emotions Book Summary in Hindi ]

Experts का कहना है जो इंसान इमोशंस को काबू में कर सकता है वह जीवन में जो पाना चाहता है वह पा लेता है इसलिए इमोशंस को काबू में करना आना चाहिए ।

 

The audio autoplay attribute

Click on the play button to play a sound:

 

कुछ लोगों की सोच है कि इमोशंस को काबू करना बेहद मुश्किल काम होता है । यदि आप भी उन लोगों में से एक हैं तो आज इस लेख के जरिए आपका believe change हो जाएगा ।

आप जैसे feel करते हो वैसे ही इमोशंस Create होता है  ,यह हमारे ऊपर है कि हम कौन सा Emotions को feel करते हैं ।

मान लेते हैं कि अभी आप उदासी महसूस कर रहे हो तो आप अपने विचार बदल के देखिए । कहते हैं कि आपका नजरिया ही आपकी खुशी और दुख का कारण बनता है तो क्यों ना आप उन सब चीजों के बारे में सोचें जिसके लिए आप शुक्रगुजार हैं ।

May you like this➡️➡️Bheed mein apni alag pehchan kaise banaye /Do Epic Shit book Summary in Hindi

जब आप इन सब चीजों के बारे में सोचो , जो आपके पास है तो आपको अपनी जिंदगी अच्छी लगने लग जाएगी और तुरंत ही आपकी उदासी छूमंतर हो जाएगी क्योंकि जब आप कृतज्ञता महसूस करते हैं तो आपको लगता है कि आपके पास जीवन में बहुत कुछ है ।

हर कोई कामयाब और खुश रहना चाहता है लेकिन एक जो इमोशन है जिसका नाम है “नेगेटिव इमोशंस “वह इंसान को अंदर ही अंदर तबाह करते जा रही है ।

Emotions ko kaise control kare?

यदि आपको यह पता लग जाएगा कि आप अपने नेगेटिव इमोशंस को कैसे हैंडल कर सकते हैं तो लाइफ में जब भी कोई मुसीबत आपके सामने आएंगी तो आप उसे आसानी से सामना करने के लिए तैयार रहेंगे चलिए जानते हैं इस लेख [2023 Emotions control karna sikhe/ Master Your Emotions Book Summary in Hindi ] के जरिए author हमें क्या कहना चाहते हैं ?

practical steps जाने के बाद आप अपने डर के लिमिट को काबू में कर पाएंगे ।आप जीवन में जो प्राप्त करना चाहते हो वह हासिल कर लेंगे ।इससे अच्छी क्या बात हो सकती है कि आप जीवन में जो प्राप्त करना चाहते हैं वह प्राप्त कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपको लेख अंत तक पढ़ना होगा फिर आप जानेंगे कि कौन से tips and tricks follow करना है

अक्सर आपने देखा होगा कि जब भी इंसान कोई कार्य शुरू करता है तो उसके दिमाग में बहुत से नेगेटिव विचार घूम रहे होते हैं । ऐसा क्यों होता है कि हमारा दिमाग ज्यादातर नकारात्मक विचारों की ओर चल पड़ता है ?

हमारे जीवन में Emotions का बहुत बड़ा रोल होता है पर अफसोस की बात तो यह है कि ना ही हमारे बड़े और ना ही स्कूल में इस टॉपिक से कुछ समझाया जाता है ।

Emotions एक्सप्रेस कर पाना बहुत जरूरी होता है कुछ इमोशंस को हम एक्सप्रेस कर देते हैं लेकिन कुछ इमोशंस हमारे अंदर ही रह जाते हैं । यदि हम एक्सप्रेस नहीं करेंगे तो हम अपने जीवन को अपने मुताबिक कभी नहीं जी पाएंगे ।

कुछ इमोशंस को आपको divert करना आना चाहिए यदि आपको गुस्सा आ रहा है 😳 तो वह इमोशंस को कैसे आप हैंडल करेंगे यहां आपको सीखना चाहिए ।

सबसे पहले आप यह जाने की नकारात्मक इमोशंस आते ही क्यों है ?

ज्यादातर दो चीजें हमें आगे नहीं बढ़ने देते हैं

  • fear of rejection
  • Ego

             fear of rejection         –

जीवन जीने के लिए हम कोई कार्य करते हैं जिससे आमदनी generate होती है ।यदि आपको कोई नौकरी से निकाल दे तो पैसे आने का जरिया ही खत्म हो जाए तो आप क्या करेंगे ? इस सवाल से इमोशंस क्रिएट होता है जो कि नकारात्मक होता है यदि नौकरी चल गई तो जीवन कैसे चलेगा ?

फिर आप अपनी काबिलियत पर शक करने लगते हैं ।आप अपने आप को कोसना शुरू कर देते हैं ।

  Ego –

आप fear of rejection जितना आपको कामयाब होने से रोकता है उसका पार्टनर भी एक महत्वपूर्ण रोल प्ले करता है जोकि है Ego

हमारे ब्रेन एक हार्मोन रिलीज करता है जिसे हम Dopamine के नाम से जानते हैं ।बहुत सारी कंपनियां है जो सोशल प्लेटफॉर्म के जरिए इनकम जनरेट कर रहे हैं हम सब इतने आदी हो गए हैं फेसबुक  ,व्हाट्सएप , टि्वटर scroll करने के कि हमें पता ही नहीं चलता है कि हमारी बेशकीमती चीज इन कंपनियों के पास पैसे की जरिए पहुंच रही है ।

कंपनियों को तो पैसा मिल जाता है लेकिन हमारी बेशकीमती चीज है हमारा वक्त जो हम ऐसे ही बर्बाद कर देते हैं ।

Dopamine Happy Hormone रिलीज होने के कारण हमें खुशी मिलती है यह खुशी तो थोड़े समय के लिए होती है लेकिन लंबे समय तक हमें कई मुसीबतों में डाल सकती है ।

जब मुसीबतें आपके घर का दरवाजा खटखटा आती है तो फिर से जो इमोशंस हमारे अंदर आते हैं उन्हे कंट्रोल करना मुश्किल होता है जिसके कारण  frustration ,anger ,sadness आ जाता है।

इमोशन से जीवन में क्या असर पड़ता है ?

कहते हैं कि हमारी आंखें जो देखती हैं उसका असर हमारे brain में पड़ता है यदि आप किसी को गेम खेलते हुए देखोगे तो आपकी इच्छा होगी गेम खेलने की यदि आप कोई मोटिवेशनल स्टोरी यूट्यूब या कहीं देखेंगे तो आप inspire  होकर अच्छा कार्य करना शुरू कर देंगे ।

Garbage in  , Garbage out

हम सब जानते हैं कि हमारे विचारों का परिणाम हमें मिलता है यदि आप अपने अंदर अच्छे विचार डालेंगे तो उसका रिजल्ट भी आपको अच्छा ही मिलेगा इसके लिए सिर्फ thought जिम्मेदार नहीं है बल्कि अच्छी नींद खाना शरीर जिम्मेदार हैं ।

आपके जीवन में quality of emotionsबहुत अच्छा किरदार निभाते हैं

        अच्छे Emotions आपके निंद्रा को प्रभावित करते हैं ? 🙂 [ Master Your Emotions Book Summary in Hindi ]

हम सब जानते हैं जो लोग रात को पिक्चर देखते हैं या रात भर गेम खेलते हैं वहां चाहे लाख कोशिश क्यों ना करें कि वे अपने सारे काम समय से कर देंगे पर वह नहीं कर पाते ।

इसके कारण जो इमोशंस बाहर आते हैं वह ज्यादातर नेगेटिव ही होते हैं एक रिसर्च के दौरान पता चला है जो लोग 6 घंटे से कम नींद लेते हैं उनके comparison में जो लोग 7 से 8 घंटा की पर्याप्त निंद्रा लेते हैं वहां अपनी जिंदगी के हर एक लक्ष्य को पा लेते हैं ।

रात में देर तक जागने के side effect इतने है की जो भी हमारा टारगेट होता है उसको हम achieve नहीं कर पाते हैं । सिर्फ lazy feel करते रहेंगे ।

अच्छी नींद

जैसे कि आप अच्छी नींद का महत्व जान ही चुकी हो तो अच्छी नींद लाने के लिए आप कुछ तरीके अपना सकते हैं ।

  •  light off कर लीजिए
  • sleep mask खरीद लीजिए

किसी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस यूज ना करें ।

जो लोग आपको demotivate करते हैं उन से दूर रहें ।

Emotion को Change कैसे सकते हैं ?

अक्सर ऐसा होता है कि जब भी हमारे सामने ऐसा कार्य आता है जिसे करने से आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं उसे हम कह देते हैं कि अभी नहीं थोड़ी देर बाद करूंगा

यदि आप अपने नेगेटिव इमोशंस को चेंज करना चाहते हैं तो सबसे पहले कार्य यह है कि जो कार्य आप अभी कर सकते हो उसे अभी करने की आदत बना ले ।

ऐसा करने से आपको अच्छा परिणाम मिलेगा जिससे नेगेटिव इमोशंस आपके अंदर कम पैदा होंगे ।

negative emotions दो प्रकार होते हैं जैसे कि spontaneous experience -मान लीजिए कि आपके सामने कोई शेर आ जाता है तो उस समय जो डर से आपके अंदर इमोशंस होगा और यहां सिर्फ कुछ समय के लिए ही रहेगा ।

Also  read 👇👇👇

NO Excuses, The Power of self discipline। How to Stop Giving Excuses

external event – यह इमोशंस किसी बाहरी इवेंट पर निर्भर नहीं करते हैं यहां आपके दिमाग में होने वाली हलचल पर निर्भर करते हैं मान लीजिए कि आपको पैसे की कमी हो गई तो दिन रात आप यहां सोचने में गुजार देंगे कि पैसे कहां से अरेंज करें इससे होने वाली घबराहट को नेगेटिव इमोशन आऐंगे ।

लेखक का कहना है कि जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं लेकिन इसे कैसे हैंडल करना है यहां इंसान को मालूम होना चाहिए ।

आप अपनी pet dog को घर से बाहर निकाल दे तो क्या वह डिप्रेशन एंजाइटी का शिकार हो जाएगा नहीं ना क्योंकि वह रास्ता ढूंढ लेते हैं और अपना जीवन जीना शुरू कर देते हैं

हम इंसान हैं तो हमें भी कोई ना कोई रास्ता ढूंढ लेना चाहिए ना कि अपने आप को नकारात्मक विचारों की ओर ढकेल देना चाहिए ।

नेगेटिव इमोशंस से अपने आप को दूर करने के लिए एक उपाय है आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि आपको अपने आप को ऐसे कोई कार्य में डाल देना है जिसमें आपका पूरा ध्यान देना आवश्यक हो ।

दूसरा उपाय है कि एक पेन और प्लेन पेपर में और उसमें अपनी समस्या लिखें कि आपको नेगेटिव इमोशंस आते ही क्यों है यदि आपको पता चल जाए कि आप को नेगेटिव इमोशंस क्यों आते हैं तो उसका उपाय भी ढूंढें उपाय में सिर्फ आपको उदासी मिले तब आपको visualization  ,affirmation, और एक्सरसाइज करने की जरूरत है इस तरह से आप नेगेटिव इमोशंस को अपने काबू में कर सकते हैं ।

 Emotions की सहायता से आप Grow कैसे हो सकते हैं ?

कुछ लोगों की सोच है कि इमोशंस हमें कमजोर बनाते हैं जबकि ऐसा सोचना गलत है इमोशंस के कारण ही आप अपने जीवन में सुख दुख महसूस कर सकते हैं ।

जब आप जीवन में सफल होने के लिए कार्य करते हो तो कहीं पर ठोकरें खाते हो उससे आपका इमोशंस hurt भी होता है ।पर खुद से एक सवाल कीजिए कि बिना ठोकर खाए बिना मुसीबतों को चले कोई व्यक्ति महान बना है क्या ?

नहीं ना इसलिए मुसीबतों का सामना करने से घबराए नहीं और जो भी इमोशंस हमारे सामने आते हैं वह कहीं ना कहीं हमें कठोर बनाते हैं और जब हम स्ट्रांग बन जाते हैं तो जीवन में चुनौतियों को फेस करने से घबराते नहीं इसलिए इमोशन अच्छे होते हैं इनका इस्तेमाल करके आप जीवन में प्रगति की ओर बढ़ सकते हैं

इमोशंस आपको मानसिक तौर से मजबूत बनाता है अब यहां आपके ऊपर है कि आप इसे हैंडल कैसे करते हैं ।

Also read👇👇

15 psychological laws से अपनी खुद की value बढ़ाएं । 15 Tips to increase value of yourself

यदि आपको इमोशंस को हैंडल कहते समय दिक्कत होती है तो आप अपनी मुसीबत को कहीं लिखना शुरू कर दें और सोचे कि क्या यह मुसीबत इतनी बड़ी है जिसे मैं हैंडल नहीं कर सकता ।कई बार आपको हंसी भी आएगी कि छोटे से इमोशंस के कारण आप अपना दिनभर  upset रहकर गुजार दिया ।

जब भी आप अपने जीवन में असहाय महसूस करें तो सबसे पहले अपने कामों की लिस्ट बना लें ।

फिर analyze करे कि आपका कौन सा महत्वपूर्ण कार्य हैं ।

अब आपको महत्वपूर्ण कार्य करना है इससे आप नेगेटिव इमोशंस को दूर रख पाएंगे ।

कई बार हमारे belief भी नेगेटिव thought क्रिएट कैसे हैं ।पहले इसे बदले फिर नेगेटिव थॉट्स खुद ब खुद बंद हो जाएंगे ।

यदि कोई इंसान है जिसके लिए आपके मन में कड़वाहट है पर बहुत से लंबे समय तक कोई कड़वाहट अंदर होने से भी आप अपने आप को ही नुकसान देते हैं इसलिए यदि माफी मांगने से या गले मिलने से आपकी नफरत खत्म हो सकती है तो उसे आज ही कर ले ।

हम खुश रहना चाहते हैं लेकिन बीते समय में कुछ लोगों ने हमें तकलीफ दी है उसके कारण हमारी कड़वाहट नहीं खत्म हो रही लेकिन अगर आप उसे अपने दिल में जगह देकर रखेंगे तो वहां कड़वाहट कभी खत्म भी नहीं होने वाली इसलिए यदि आप अपनी जिंदगी में खुशहाली चाहते हैं तो आज ही उन लोगों को माफ करके अपने जीवन की नई शुरुआत करें ।

कोई भी इंसान इवेंट या परिस्थिति आपको दुख नहीं पहुंचा सकती जब तक आप अपने इमोशंस को अपने काबू में रखेंगे ।

हमारे अपने जब हमें तकलीफ देते हैं तो तकलीफ होना तो लाजमी है 🙁 लेकिन सावधान रहें आप अपने इमोशंस को ज्यादा Hurt ना होने दें ।

आपने जीवन का remote control किसी अन्य व्यक्ति को ना दें क्योंकि अगर आप दे देंगे तो वहां अपनी मर्जी से ही आपको खुशी और दुख दे सकता है ।

आप अपना रिमोट कंट्रोल अपने पास रखते हो तो नई-नई चुनौतियों को अपनाना आसान हो जाता है । इससे आप जो पाना चाहते हो वह पा सकते हो  ,नए आइडियाज आपके अंदर आते हैं और पॉजिटिव इमोशंस खुद-ब-खुद बनने लग जाते हैं इसलिए अपने जीवन का रिमोट कंट्रोल अपने हाथ में रखें ।

FAQ [ Master Your Emotions Book Summary in Hindi ]

प्रश्न -अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना क्यों महत्वपूर्ण है?

उत्तर -अपनी भावनाओं को नियंत्रित रखना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके निर्णय को प्रभावित करती है ।

प्रश्न -इमोशन्स (भावनाओं) पर काबू कैसे पाएँ ?

उत्तर -आप 5 साल बाद क्या बनना चाहते हो ?उस पर ज्यादा ध्यान दीजिए ऐसा करने से आप अपने वर्तमान के इमोशंस को जो आपको अपने लक्ष्य से भटका रहा है उसे काबू में कर सकते हैं

प्रश्न -अपनी भावनाओं को कैसे नियंत्रित करें?

उत्तर -सकारात्मक सोच के साथ आप अपनी भावनाओं को नियंत्रित कर सकते हैं ।

अपने कीमती समय देने के लिए धन्यवाद 😊🙏🏼🙏🏼 । यदि आपको यह लेख (2023 Emotions control karna sikhe/ Master Your Emotions Book Summary in Hindi) अच्छा लगा हो तो अपने दोस्त और रिश्तेदारों के साथ शेयर करना ना भूले ।

Related Posts

3 thoughts on “2023 Emotions control karna sikhe /Master Your Emotions Book Summary in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
YouTube
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram